15 वर्षों से मिड-डे-मील योजना ठप, बच्चे भोजन से वंचित

मधुबनी।शहरकेगदियानीस्थितसरकारीमध्यविद्यालयकीहालतठीकनहींकहींजासकतीहै।विद्यालयमेंकमराऔरशिक्षकोंकीकमीसेबच्चोंकीपढ़ाईप्रभावितहोरहीहै।कोरोनाकीदूसरीलहरबादइसविद्यालयकासंचालनशुरूहोनेकेबादभीविद्यालयमेंबच्चोंकीउपस्थितिकमदेखीजारहीहै।जैसे-तैसेसंचालितइसविद्यालयमेंपढ़ाईपटरीसेउतरगईहै।विद्यालयमेंकरीब15वर्षोंसेमिड-डे-मीलयोजनाकासंचालनठपहै।इसयोजनाकेतहतसरकारीविद्यालयोंमेंकक्षाएकसेलेकरआठतककेबच्चोंकोदोपहरमेंपौष्टिकभोजनदेनेकाप्रावधानहै।

नामांकित275बच्चोंमें189कीउपस्थिति:

वर्ष1930मेंस्थापितमध्यविद्यालय,गदियानीमेंकक्षाएकसेआठतकके275नामांकितहैं।इसमेंबालक138वबालिका137शामिलहै।कक्षाएकमें34,कक्षादोमें31,कक्षातीनमें35,कक्षाचारमें28,कक्षापांचमें36,कक्षाछहमें31,कक्षासातमें48कक्षाआठमें32बच्चेहैं।मंगलवारकोविद्यालयपंजीकेअनुसारकुल189बच्चोंकीउपस्थितिदेखीगई।उपस्थितबच्चोंमेंकक्षाएकमें22,कक्षादोमें23,कक्षातीनमें21,कक्षाचारमें20,कक्षापांचमें21,कक्षाछहमें22,कक्षासातमें34,कक्षाआठमें26बच्चेशामिलहैं।मंगलवारकोविद्यालयमें189बच्चेउपस्थितथे।

विद्यालयमेंशिक्षक,कमरासहितअन्यसंसाधनकीभारीकमी:

एकसेआठतककीकक्षावालेइसमध्यविद्यालयशिक्षकोंकीकमीहै।विद्यालयमेंवर्तमानमेंप्रभारीएचएमकेरूपमेंबरमेश्वरप्रसादसहितचारशिक्षकआशादेवी,रेखाकुमारीवविदेश्वरयादवकार्यरतहैं।मंगलवारकोविद्यालयमेंशिक्षिकाआशादेवीकीअनुपस्थितिपरप्रभारीएचएमनेबतायाकिआशादेवीविशेषावकाशपरहैं।बतादेंकिइसविद्यालयमेंकमसेकमदसशिक्षक-शिक्षिकाओंकीजरूरतहै।मगर,वर्षोंसेसिर्फचारशिक्षक-शिक्षिकाओंकेसहारेकक्षाकासंचालनहोरहाहै।विद्यालयमेंबिजलीकीआपूर्तिहोरहीहै।ब्लैकबोर्डभीदुरुस्तहै।खेलकूदकीसामग्रीभीदेखीगई।विद्यालयकेकक्षाआठकीछात्राझुनझुनकुमारी,आनंदीराज,सलोनीकुमारी,रानीकुमारीसहितअन्यनेबतायाकिमिडडेमीलबंदहोनेसेटिफिनमेंभोजनकेलिएघरजातेहैं।छुट्टीकेबादविद्यालयकेसीमितजगहमेंखेलकूदमेंमनबहलानापड़ताहै।

विद्यालयमेंकक्षाकाअभाव,बरामदेपरलगतीकक्षा:

दोकमराऔरएकबरामदापरवर्गसंचालनहोनेवालेइसविद्यालयमेंजगहकेअभावमेंपठन-पाठनकेदौरानबच्चोंकेबीचकोविडगाइडलाइनकेमुताबिकशारीरिकदूरीकापालनसंभवनहींहोरहाहै।बरामदेपरबैठेबच्चोंकाभीयहीयहीहालबनाहै।बारिशकेसमयबरामदेपरबैठकरपठन-पाठनकरनेवालेबच्चोंकोछुट्टीदेदीजातीहै।विद्यालयमेंएकशौचालय,एकचापाकलकामकररहाहै।दूसराचापाकलवर्षोंसेखराबपड़ाहै।जगहकेअभावमेंइसविद्यालयमें15वर्षोंसेडेमीलकासंचालननहींहोरहाहै।विद्यालयकीअपनीजमीनकेकागजातकाकहींकोईअता-पतानहींहोनेसेविद्यालयकेशिक्षकोंकोविद्यालयकीजमीनकीकोईजानकारीउपलब्धनहींहै।प्रभारीएचएमपरमेश्वरप्रसादनेबतायाकिआठसालपूर्वसर्वशिक्षाअभियानद्वाराविद्यालयकेविकासकेलिए35लाखरुपयेकाआवंटनहुआथा।जिसकाउपयोगअबतकनहींहोसका।इधर,जिलाशिक्षापदाधिकारीनसीमअहमदनेबतायाकिमध्यविद्यालयगदियानीमेंएमडीएमकासंचालननहींहोनेकेसंदर्भमेंडीपीओएमडीएमसेजानकारीलेकरसमुचितकार्रवाईकीजाएगी।

रीडर्सकनेक्ट::::

दैनिकजागरणकेऑपरेशनब्लैकबोर्डकालममेंक्षेत्रमेंसंचालितसरकारीविद्यालयोंकेसंदर्भमेंआपहमेंवाट्सएपनंबर9472591165परजानकारीदेसकतेहैं।