163 दिनों में 50 हजार मजदूरों के हाथ खाली

आगरा,जागरणसंवाददाता।अनलाककेशुरुआतमेंपटरीपरआईमजदूरोंकीजिदगीसमयकेसाथपटरीसेउतरतीजारहीहै।अंदाजाइसीसेलगायाजासकताहैकिमहात्मागांधीराष्ट्रीयग्रामीणरोजगारगारंटीअधिनियम(मनरेगा)केतहत163दिनोंमें50हजारसेअधिकमजदूरोंकेहाथखालीहोगएहैं।जिलेमेंविकासकार्योंकाग्राफगिरनेकेसाथहीमजदूरोंकोरोजगारउपलब्धकरानेकाग्राफभीगिरगयाहै।

कोरोनामहामारीकेचलते25मार्चसे30मईतकदेशभरमेंलाकडाउनरहा।ऐसेमेंमजदूरोंकीस्थितिकाफीखराबहोगई।तमाममजदूरअपनेगांवलौटआए।मजदूरोंकेबढ़तेआर्थिकसंकटकोदूरकरनेकेलिएमनरेगाकेतहतकार्यशुरूकराएगए।सरकारनेविभिन्नविभागोंकोअधिकसेअधिककार्यकरानेपरजोरदिया।गांवोंमेंनाली,खड़ंजा,चकरोडनिर्माणकेकार्योंकेसाथतालाबखोदाई,नहरसफाईकेकामभीशुरूकराएगए।नतीजायहरहाकि26जूनकोजिलेमें62,605मजदूरोंकोमनरेगाकेतहतकामदियागया।इसमेंप्रवासीमजदूरोंकीसंख्याबमुश्किल1,400हीथी।मगर,समयकेसाथविकासकार्योंकाग्राफगिरनेलगा।पांचदिसंबरकोमनरेगाकेतहतकामकरनेवालेमजदूरोंकीसंख्याघटकर12,228रहगई।5दिसंबरकीस्थिति

12,228मजदूरोंकोमिलाकाम

1,075विकासकार्यचलरहेहैंजिलेमें

528ग्रामपंचायतोंमेंचलरहेकार्य26जूनकीस्थिति

62,605मजदूरोंकोमिलाथाकाम

1,610विकासकार्यचलरहेथेजिलेमें

654ग्रामपंचायतोंमेंहुएथेकार्ययेहैअंतर

50,377मजदूरहोगएइसबीचकम

525विकासकार्यभीहोगएजिलेमेंकम

126ग्रामपंचायतोंमेंकमहुएकार्य