7.45 बजे तक विद्यालय नहीं पहुंचे बच्चे

औरंगाबाद।उत्क्रमितमध्यविद्यालयकाहाल-बेहालहै।विद्यालयोंमेंछात्रोंकीसंख्याघटतेजारहीहै।7:45बजेतकजागरणकीटीमपहुंचीतोविद्यालयमेंसहायकशिक्षकइंदूकुमारीउपस्थितथी।प्रधानाध्यापककेशमणिकुमारीतथासहायकशिक्षकरेणुकासिन्हाएवंसंजयकुमार¨सहनहींपहुंचेथे।बतायाकिकेशमणिकुमारीकीबारातहैतथाअन्यशिक्षकआतेहीहोंगे।देखनेसेविद्यालयऐसालगाकिविद्यालयसेबच्चेंहमेशागायबरहतेहै।इंदूकुमारीनेबतायाकियहांनामांकितछात्रोंकीसंख्या190है।100कीसंख्यामेंबच्चेहमेशाविद्यालयआतेहै।सोचाजासकताहैकिसाढ़ेछहबजेसे10बजेविद्यालयकासमयहै।वैसीस्थितिमें7:45तकविद्यालयमेंबच्चोंकानपहुंचनाहालबयांकरताहै।विद्यालयमेंशिक्षकभीसमयपरनहींआतेहैजिसकारणछात्रभीविद्यालयआनापसंदनहींकरतेहै।

ग्रामीणोंनेबतायाकिविद्यालयकीस्थितिखराबहै।इधरअधिकारीभीनहींपहुंचतेहैजिसकारणविद्यालयमेंशिक्षकअनुपस्थितरहतेहै।मध्यविद्यालयगैनीकाहाल-बेहालहै।यहांछात्रोंकीनामांकितसंख्या-450है।लेकिन7:20मिनटतकछात्रोंकीसंख्यामात्र30हीदिखी।प्रधानाध्यापकसुरेशप्रसादनेबतायाकिलग्नकेकारणबच्चेलेटसेविद्यालयआतेहैं।करीब8.30बजेतकबच्चेविद्यालयपहुंचजाएंगे।कहागयाहैकिविद्यालयविद्याकामंदिरहैपरशिक्षणकेनामपरविद्यालयकीस्थितिखराबहोतेजारहीहै।यहांशिक्षकअंबुजकुमारपांडेय,मो.समीरअहमद,सबीताकुमारीउपस्थितदिखी।दोशिक्षककुमारकौशलकिशोर,अनीताकुमारीअनुपस्थितथे।प्रधानाध्यापकनेबतायाकिवेबगलमेंकुछकामसेचलेगयेहै।यहांशौचालयकाभीअभावहै।यहांछात्राओंकीसंख्याज्यादाहैवैसीस्थितिमेंशौचालयकानिर्माणअतिआवश्यकहै।प्रधानाध्यापकनेबतायाकिकईबारअधिकारीसेकहागयापरशौचालयनिर्माणनहींकरायागया।मुखियाजमींदार¨सहनेबतायाकिविद्यालयकोबेहतरतरीकेसेचलानेकेलिएनिरीक्षणकेदौरानकहागयाहै।