अवमानना के दोषी नागेश्वर राव को दिनभर न्यायालय कक्ष में बैठने की सजा, एक-एक लाख रुपये का जुर्माना भी

नयीदिल्ली,12फरवरी(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेमंगलवारकोकेन्द्रीयजांचब्यूरोकेपूर्वअंतरिमनिदेशकएमनागेश्वररावऔरएजेंसीकेकानूनीसलाहकारएसभासूरामकोअवमाननाकादोषीठहरातेहुयेपूरेदिनन्यायालयकक्षमेंबैठेरहनेकीसजासुनाई।न्यायालयनेइनदोनोंअधिकारियोंपरएक-एकलाखरुपएकाजुर्मानाभीलगायाहै।प्रधानन्यायाधीशरंजनगोगोई,न्यायमूर्तिएलनागेश्वररावऔरन्यायमूर्तिसंजीवखन्नाकीपीठनेबिहारमेंआश्रयगृहयौनशोषणकांडकीजांचकररहेजांचएजेन्सीकेअधिकारीएकेशर्माकातबादलाकरनेकेमामलेमेंइनदोनोंअधिकारियोंकोन्यायालयकीअवमाननाकादोषीठहराया।पीठनेकहाकिउन्होंनेजानबूझकरसीबीआईकेतत्कालीनसंयुक्तनिदेशकएकेशर्माका17जनवरीकोकेन्द्रीयरिजर्वपुलिसबलमेंअतिरिक्तमहानिदेशककेपदपरतबादलाकरकेन्यायालयकेआदेशकीअवज्ञाकी।पीठनेकहा,‘‘हमारीसुविचारितरायमेंयहऐसामामलाहैजहांसीबीआईकेकार्यवाहकनिदेशकएमनागेश्वररावऔरअभियोजननिदेशक(जांचएजेन्सी)दोनोंनेन्यायालयकीअवमाननाकीहै।’’पीठनेदोनोंअधिकारियोंकोन्यायालयकीअवमाननाकादोषीठहरातेहुयेकहा,‘‘हमइसकेअलावाऔरकुछनहींकरसकते।’’पीठनेकहा,‘‘हमनेन्यायालयकीअवमाननाकरनेकेलियेरावऔरभासूरामकोसुनाऔरहमउनपरएकएकलाखरुपयेकाजुर्मानालगातेहैंऔरन्यायालयउठनेतककीसजासुनातेहैं।’’पीठनेकहा,‘‘न्यायालयकेएककोनेमेंजाइयेऔरइसन्यायालयकेउठनेतकवहांबैठजाइये।’’’पीठनेअपनाआदेशसुनानेसेपहलेरावऔरभासूरामसेकहाकिउन्हेंअवमाननाकादोषीठहरायागयाहैऔरउनकीबिनाशर्तक्षमायाचनास्वीकारनहींकीगयीहै।शीर्षअदालतनेरावऔरभासूरामकोकुछकहनेकाभीअवसरप्रदानकियाक्योंकिउनकीयहसजा30दिनकीहोसकतीथी।पीठनेदोनोंअधिकारियोंसेपूछा,‘‘आपकुछकहनाचाहतेहैं?’’इसपरसीबीआईऔरउसकेअधिकारियोंकीओरसेअटार्नीजनरलकेकेवेणुगोपालनेन्यायालयसेकानूनकेमुताबिकदूसरेविकल्पोंपरगौरकरनेऔरनरमीबरतनेकाअनुरोधकिया।दोनोंअधिकारियोंकेबचावकोअस्वीकारकरतेहुयेपीठनेकहाकिहालांकिउन्होंनेबिनाशर्तक्षमायाचनाकीहै,‘‘हमउनकेद्वारादीगयीदलीलोंसेसहमतनहींहैं।’’सुनवाईकेदौरानपीठनेकहाकिरावशीर्षअदालतकेआदेशसेवाकिफथेकिआश्रयगृहयौनशोषणमामलोंकीजांचकररहेअधिकारियोंकातबादलाउसकीसहमतिकेबगैरनहींहोसकताथा।पीठनेकहा,‘‘लेकिन,उनकारवैयाहैकिमैंनेजोजरूरीसमझावहकिया।यहसरासरन्यायालयकीअवमाननाहै।यदियहन्यायालयकीअवमाननानहींहैतोक्याहै?’’न्यायालयनेबिहारआश्रयगृहयौनशोषणमामलोंकीजांचकररहेसीबीआईकेअधिकारीएकेशर्माकाउसकीअनुमतिकेबगैरहीतबादलाकियेजानेपरकेन्द्रीयजांचब्यूरोकोशीर्षअदालतकेआदेशकाउल्लंघनकरनेपरकड़ीफटकारलगाईथी।न्यायालयनेरावकोअवमाननानोटिसजारीकरतेसमयअपनेदोऔरआदेशोंकेउल्लंघनकाभीजिक्रकियाथा।