बाढ़ से हर साल टूटती हैं सड़कें, नहीं होता स्थायी निदान

सीतामढ़ी।चुनावकेसमयवादेतोबहुतकिए,लेकिनअधिकतरपूरेनहींहुए।सड़क,नाली,पेयजलसहितकईसमस्याएंदूरनहींहोसकीं।स्वास्थ्यसुविधाओंकाविस्तारनहींहोसका।अबचुनावसिरपरआयाहैतोविधायकएकबारफिरजनताकेबीचपहुंचेंगे।उनकेवादोंऔरकामकाहिसाबजनताकरेगी।परिहारसेविधायकगायत्रीदेवीहैं।विधायकद्वाराक्षेत्रमेंकईविकासकार्यकराएगएहैं।विशेषकरसड़कोंकानिर्माणअधिकहुआहै।बावजूदकईइलाकेअभीभीविकासकीराहदेखरहेहैं।विधायककेवादे:--हरगांवमोहल्लेकोसड़कसेजोड़ना,--हरघरतकबिजलीपहुंचाना,--हरबच्चेकोशिक्षासेजोड़ना।पूरेहुएवादे:--कमोबेशसभीगांववमोहल्लासड़कसेजुड़ा।--राजवाड़ागांवकेसमीपहरदीनदीपरबहुप्रतीक्षितस्लुइसगेटकानिर्माणकार्यशुरूहुआ।--हरघरतकबिजलीपहुंची।वादेजोपूरेनहोसके:--सरकारीविद्यालयोंमेंआधारभूतसंरचनामजबूतहुआ,लेकिनपठन-पाठनकीस्थितिबेहतरनहींहोसकी।क्याहैमुख्यसमस्या:

--मसहासेरमनैकाजानेवालीसड़कहरसालबाढ़मेंयहांपरसड़कटूटजातीहै।लेकिनयहांपुलबननातोदूरठीकसेसड़ककीमरम्मतभीनहींकीजातीहै।जिसकारणबरसातभरचचरीकाहीसहारारहताहै।बादमेंसड़ककोभरकरकामचलाउबनादियाजाताहै।यहापुलबनानेकीजरूरतहै।क्याकहतेहैंलोग:

--नरंगाकेरमेशकुमारकहतेहैंकिक्षेत्रमेंविकासहुआहै।सड़कवपुल-पुलियोंकानिर्माणहुआहै।लेकिनबाढ़-बरसातकेकारणकईग्रामीणसड़केंक्षतिग्रस्तहोगईहै।जिसकीमरम्मतजरूरीहै।---भुतहीकेसुबोधमहतोकहतेहैंपरिहारविधानसभाक्षेत्रमेंकाफीकार्यहुआहै।लेकिनइलाकेअभीभीविकाससेदूरहैं।इनइलाकोंमेंविकासकार्यकरानेकीजरूरतहै।क्याकहतीहैंविधायक:विधायकगायत्रीदेवीकहतीहैंकिहरक्षेत्रमेंकामहुआहै।सड़कोंकाजालबिछाहै।दर्जनोंपुलएवंपुलियाकानिर्माणकियागयाहै।शिक्षाकेक्षेत्रमेंभीउल्लेखनीयकार्यकियागयाहै।क्षेत्रकेकईमध्यविद्यालयोंकोउत्क्रमितउच्चविद्यालयकादर्जादियागयाहै।मुख्यालयस्थितपीएचसीकोअपग्रेडकरसीएचसीबनायागयाहै।सिचाईकेलिएकईस्लुइसगेटकानिर्माणकार्यजारीहै।