बाल विकास परियोजना अधिकारियों की कमी से जूझ रहा विभाग

संवादसहयोगी,अल्मोड़ा:जनपदमेंबालविकासविभागकाकोईसुधलेवानहींहै।हालतयहहै11विकासखंडोंवालेजिलेमेंलमगड़ावताड़ीखेतकोछोड़करकिसीभीविकासखंडमेंबालविकासपरियोजनाअधिकारी(सीडीपीओ)नहींहैं।वहींकेंद्रोंमेंसहायिकाओंवकार्यकर्ताओंके35पदभीअरसेसेखालीचलरहेहैं।ऐसीदशामेंनौनिहालोंकोप्रीप्राथमिकशिक्षाकालाभनहींमिलपारहाहै।

जिलेमेंतीनसेछहसालतककेनौनिहालोंकोप्री-प्राथमिकशिक्षादेनेकेलिएजिलेके11विकासखंडोंमें1860आंगनबाड़ीवमिनीआंगनबाड़ीकेंद्रसंचालितकिएगएहैं।इनमेंकरीब21हजारनौनिहालोंकोशिक्षादीजारहीहै।वहींइनकेंद्रोंकेलिएस्वीकृत3050कार्यकर्ताओं,सहायिकाओंवमिनिआंगनबाड़ीकार्यकर्ताओंके35पदखालीपड़ेहैं।ऐसेमेंबच्चोंकोखेल-खेलमेंशिक्षाकापूरालाभनहींमिलपारहाहै।इतनाहीनहीं,जिलेकेलमगड़ावताड़ीखेतब्लाककोछोड़करअन्यब्लाकोंमेंबालविकासपरियोजनाअधिकारीहीनहींहैं।इनकेंद्रोंमेंहवालबाग,ताकुला,द्वाराहाट,चौखुटिया,भिकियासैंण,स्याल्दे,सल्ट,भैसियाछानावधौलादेवीशामिलहैं।सुपरवाइजरकेभीपदखाली

आंगनबाड़ीकेंद्रोंकेनिरीक्षणकेलिए11ब्लाकोंमेंसुपरवाइजरके49पदस्वीकृतहैं।जिसमेंसेपांचपदअरसेसेरिक्तपड़ेहैं।ऐसेहालातोंमेंआंगनबाड़ीकेंद्रोंकाप्रभावीनिरीक्षणनहींहोपारहाहै।किरायेकेभवनोंमेंसंचालितहोरहेअधिसंख्यकेंद्र

उत्तराखंडराज्यगठनके21सालोंबादभीजिलेमेंअधिसंख्यकेंद्रकिरायेकेभवनोंमेंसीमितस्थानमेंसंचालितहोरहेहैं।1860केंद्रोंमेंसे1060आंगनबाड़ीवमिनिआंगनबाड़ीकेंद्रकिरायेकेभवनोंमेंसंचालितकिएजारहेहैं।शासनवविभागनौनिहालोंकेबेहतरहितोंकेलिएलगातारसजगहै।सीडीपीओ,सुपरवाइजरवआंगनबाड़ीकार्यकर्ता,सहायिकावमिनिआंगनबाड़ीकार्यकर्ताकेरिक्तपदोंकीसूचनाविभागकोभेजीगईहै।जिलेमें200आंगनबाड़ीकेंद्रवर्तमानमेंनिर्माणाधीनहैं।जल्दहीइनकेंद्रोंकेहस्तांतरितहोनेसेनौनिहालोंकोराहतमिलसकेगी।

-पीतांबरप्रसाद,जिलाकार्यक्रमअधिकारी,अल्मोड़ा