बिहार में शराबबंदी: दारू पीने अररिया से पहुंच गए नेपाल, वापसी में हुआ कुछ ऐसा कि 'अब कभी नहीं'

अशोकझा,जोगबनी(अररिया)।बिहारकेकईजिलोंकीसीमानेपालसेखुलीहुईहै।इनमेंअररियाभीएकहै।सामान्यदिनोंमेंसीमापारकरआवाजाहीपरकोईरोक-टोकनहींहोती।एक-दूसरेकेहाट-बाजारमेंलोगआते-जातेरहतेहैं।इनदिनोंयहआना-जानाकुछज्यादाबढ़ाहुआहै।कारणवहशराबहै,जिसपरबिहारमेंप्रतिबंधलगाहुआहैऔरइनदिनोंसख्तीकुछज्यादाहै।

इसीअररियाजिलेकेजोगबनीसेकभीकथा-शिल्पीफणीश्वरनाथरेणुकीआंचलिककहानियांनिकलाकरतीथीं।आजइसअंचलमेंशराबखोरोंकीकहानीकही-सुनीजारही।अररियाजिलेमेंफारबिसगंज,नरपतगंज,सिकटीऔरकुर्साकांटाप्रखंडकेअलावापूर्णियाऔरकटिहारजिलेकेलोगजामछलकानेकेलिएजोगबनीसीमापारकरनेपालपहुंचरहेहैं।वहांमौज-मस्तीकेबादकीआफतघरलौटनेमेंहै।हालांकि,दर्जनोंरास्तेहैं,लेकिनहरठांवपरमुस्तैदपुलिसइन्हेंदबोचलेरहीही।मुंहमेंडालतेहीब्रेथएनलाइजरचुगलखोरीकरदेरहेहैं।एकमाहकेभीतरऐसे12लोगपकड़ेजाचुकेहैं।अबजेलसेउन्हेंछुड़ानेकेलिएस्वजनकोर्ट-कचहरीकेचक्करकाटरहेहैं।

जोगबनीमेंकईमामलेआएहैंसामने:जोगबनीपुलिसने16अगस्तकोगश्तीकेदौरानचाणक्याचौककेसमीपएकवैगन-आरकारकीजांचकीथी।छहशराबीगिरफ्तारकिएगएऔरवाहनसेशराबभीजब्तकीगई।इससेपूर्व,विशेषछापेमारीअभियानकेतहतपुलिसने29जुलाईकोनौशराबियोंकोहिरासतमेंलिया।सभीआरोपितनेपालसेशराबपीकरनोमेंसलैंडहोकरबिहारघुसरहेथे।21नवंबरकोपुलिसनेसमकालीनअभियानकेतहतभारत-नेपालसीमासेसटेजोगबनीकेटिकुलियासेचारलोगोंकोशराबकेनशेमेंगिरफ्तारकिया।इसकेबादसोमवारकोजोगबनीपुलिसनेजोगबनीवार्डसंख्याएककेएकघरमेंछापेमारीकरदोलोगोंकोगिरफ्तारकिया।छापेमारीकेदौरानघरकामालिकफरारहोगया,लेकिनशराबपीरहेदोनोंलोगपकड़लिएगए।इसघरमेंनेपालसेशराबलाकरबेचीजातीथी।

शराबकोलेकरकाफीसख्तीबरतीजारहीहै।यहांशराबबनतीनहींहै।नेपालकीखुलीसीमाकेकारणलोगवहांसेशराबपीकरआरहेहैं।ऐसेलोगोंपरपुलिसकीकड़ीनजरहै।शराबीपकड़ेभीजारहेहैं।-आफताबअहमद,थानाध्यक्षसहनिरीक्षक,जोगबनी