बिना ‘एनएबीएल’ मान्यता के दवा जांची जा रही, 2 साल में 11 में से 9 फूड लैब को एनएबीएल मान्यता, ड्रग लैब को क्यों नहीं?

एकओरतोसरकारघटियाऔरनकलीदवाकारोबारपरलगामलगानेकेदावेकररहीहै,वहीं50सालपुरानीसेठीकॉलोनीस्थितएकमात्रसरकारीड्रगटेस्टिंगलैबनेशनलएक्रिडिएशनबोर्डफॉरटेस्टिंगएंडकेलिब्रेशनलेबोरेट्री(एनएबीएल)सेमान्यनहींहै।इससेजांचरिपोर्टकीविश्वसनीयतापरसवालउठनेलगेहै।

एकमात्रसरकारीलैबअंतरराष्ट्रीयस्तरकेमानकोंपरखरीनहींहोनेसेजांचरिपोर्टकोकोर्टमेंचेलेंजकरसकताहै।मेडिकलडिवाइसकीजांचकेलिएनमूनोंकोदिल्लीभेजनापड़ताहै।11मेंसे9लैबोंमेंजयपुर,अजमेर,उदयपुर,बीकानेर,कोटा,भरतपुर,जोधपुर,बांसवाड़ा,अलवरलैबकोएनएबीएलसेमान्यतामिलसकतीहै,तोजयपुरकीड्रगटेस्टिंगलैबकोक्योंनहीं?

बिनामान्यताजांचलीगलकेहिसाबसेमान्यनहीं

फार्माएक्सपर्टवी.एन.वर्माकाकहनाहैकिफूडकी9लैबोंकोएनएबीएलसेमान्यतामिलचुकीहै।इसीकीतर्जपरसरकारकोजयपुरकीड्रगटेस्टिंगलैबकोभीएनएबीएलसेमान्यतालेनीचाहिए,जिससेजांचरिपोर्टनकेवलअंतरराष्ट्रीयस्तरपरबल्किलीगलकेहिसाबसेभीमान्यहोगी।एनएबीएलसर्टिफिकेटसेउपकरणोंऔरस्टाफपरभीकिसीतरहकासंदेहनहींरहता।

लैबकोऐसेमिलताहैएनएबीएलप्रमाण-पत्र

दिल्लीस्थितएनएबीएलमेंफीसकेसाथऑनलाइनआवेदनकेबादटीममशीन-उपकरणोंवस्टाफकानिरीक्षणकरतीहै।लैबकीपीटीप्रोवाइडरयानीप्रोफिशिएंसीटेस्टलियाजाताहै।नमूनावहांदिल्लीसेभेजाजाताहै।परिणामकोजांचाजाताहै,आवेदनमेंइसकीजानकारीदीजातीहै।सर्टिफिकेटरिपोर्टमेंहरडेटाकाडॉक्यूमेंटेशनकरनाजरूरीहै।तभीसर्टिफिकेटजारीहोताहै।