बिना किताबों के लग रहीं मुहल्ला क्लास

जासं,मैनपुरी:प्राइमरीस्कूलोंमेंबच्चोंकोभलेहीसरकारआनलाइनपढ़ाईकराकरबेहतरशिक्षादेनेकादमभररहीहो।लेकिनयहसिर्फखानापूरीबनकररहगईहै।शिक्षणसत्रकेतीनमाहगुजरजानेकेबादभीअभीतकजिलेमेंपाठ्यपुस्तकेंतकवितरितनहींकराईजासकीं।आधीअधूरीतैयारीकेसाथमुहल्लाक्लासलगाईजारहीहैं।मुहल्लाक्लासऔरआनलाइनक्लासमेंबच्चेकिताबोंकेबिनाहीपढ़ाईकररहेहैं।कोरोनावायरसकेसंक्रमणकेचलतेस्कूलोंमेंकक्षाओंकासंचालननहींहोरहाहै।बच्चोंकोआनलाइनपढ़ाईकराईजारहीहै।हिदीमाध्यमकेबच्चोंकोस्कूलोंसेनिश्शुल्ककिताबेंमिलनीथींजोकिशिक्षणसत्रकेतीनमाहगुजरजानेकेबादभीआजतकमुहैयानहींकराईजासकीं।बच्चोंकोबिनाकिताबकेहीआनलाइनपढ़ाईकरनीपड़रहीहै।ऐसेमेंबिनाकिताबोंकेआनलाइनपढ़ाईबच्चोंकेलिएऔपचारिकताबनकररहगईहै।वहींशिक्षकभीइसेमजबूरीबतारहेहैं।

अफसरऔरशिक्षकयहदेतेजवाब-

स्कूलोंसेमिलनेवालीपुस्तकोंकेबारेमेंजानकारीकरनेपरअभिभावकोंसेशिक्षकऔरअफसरकहतेहैंकिमुहल्लाक्लाससंचालितहोरहीहैं।जिनबच्चोंकेपासमोबाइलऔरटीवीकीसुविधानहींहै,उनकीपढ़ाईकेलिएमुहल्लाक्लासचलाईजारहीहैं।मुहल्लाक्लासमेंबच्चोंकोपढ़ानेकेलिएशिक्षकपहुंचरहेहैं।वहींशिक्षणसामग्रीमुहैयाकरारहेहैं।

अभीहोरहेटेंडर-

शासनसेजिलेके1907बेसिककेस्कूलोंकोदसलाखसेज्यादाकिताबेंमिलनीथीं।अभीतकयहपूरीहीनहींमिलीहैं।वैसे,विभागकिताबोंकीढुलाईकोनिविदाकरनेमेंलगाहै।

ऐसेहोरहीआनलाइनबच्चोंकीपढ़ाई-

आजभीग्रामीणक्षेत्रमें50फीसदबच्चेआनलाइनपढ़ाईकरपारहेहैं।शिक्षाविभागसेअलग-अलगविषयोंकीलिकडालीजातीहै।टीवीपरभीइसकाप्रसारणहोताहै।जिनबच्चोंकेपासमोबाइलकीसुविधानहींहै,वहटीवीकेमाध्यमसेपढ़ाईकररहेहैं।इसकेअलावामुहल्लाक्लासकेमाध्यमसेभीबच्चोंकोपढ़ायाजारहाहै।-कमलसिंह,बीएसए।