छापेमारी में 28 सौ किलो जावा महुआ नष्ट

जहानाबाद।महुआशराबकेनिर्माणकेलिएविख्यातदरधानदीझलासमेंछापेमारीहोतीहैलेकिनफिरवहांशराबबनानेकाकार्यआरंभहोजाताहै।दरअसलशराबकेधंधेमेंलगेलोगतूडाल-डालमैंपात-पातकेतर्जपरचलरहेहैं।दशकोंपूर्वसेइसझलासमेंशराबबनानेकाकारोबारचलरहाहै।शराबबंदीकेपहलेभीसमय-समयपरयहांछापेमारीहोतीथी।भट्ठियांभीध्वस्तकिएजातेथेलेकिनफिरसेयहकारोबारउसीप्रकारफलताफूलतारहताथा।शराबबंदीकेबादतोउत्पादविभागऔरपुलिसकीनजरउसपरऔरटेढ़ीहुईबावजूदयहकारोबारठपनहींहोसका।भलेहीउत्पादविभागकेलोगवहांजातेहैंऔरभट्ठियोंकोध्वस्तकरतेहैं।उपकरणोंकोभीनष्टकियाजाताहै।लेकिनजैसेहीवेलोगवापसलौटतेहैंफिरसेवहांपरकारोबारआरंभहोजाताहै।यदिइसकार्रवाईमेंकारोबारियोंकोबड़ानुकसानहोतातोफिरवेलोगइसधंधेकोशुरूकरनेकीहिम्मतनहींजुटाते।यदिकार्रवाईकेबादफिरवेलोगइसधंधेकोआरंभकरदेतेहैं।क्योंकिछापेमारीमेंउन्हेंइतनानुकसाननहींहोताहैजिसकीभरपाईवेलोगनहींकरसकतेहैं।सबसेबड़ीबातयहहैकिवहांछापेमारीहोतीहै।घंटोंजेसीबीलगाकरभट्ठियोंकोध्वस्तभीकियाजाताहैलेकिनकारोबारीपकड़ेनहींजातेहैं।अबतककीहुईछापेमारीमेंमात्रएककारोबारीकीगिरफ्तारीहुईहै।कारोबारियोंकीगिरफ्तारीनहींहोनाबड़ासवालखड़ाकरताहै।क्याविभागकीइसकार्रवाईकीजानकारीकारोबारियोंकोपहलेहीमिलजातीहै।यदिनहींमिलतीतोफिरवहांकोईव्यक्तिमौजूदक्योंनहींमिलताहै।हालांकिउत्पादअधीक्षकसुनिलकुमारसिंहकामाननाहैकिटीमकेलोगोंकोजबकभीभीइसकारोबारकीजानकारीमिलीहैवहांकार्रवाईहुईहै।इसीकेतहतमंगलवारकोभीवहांबड़ेपैमानेपरछापेमारीकीगई।छापेमारीकेदौरानतकरीबन28सौकिलोफूलाहुआजावामहुआकोनष्टकियागया।इतनाहीनहीं30लीटरशराबकीभीबरामदगीहुई।बड़ीसंख्यामेंउपकरणनष्टहुए।भट्ठियोंकोभीध्वस्तकियागया।उत्पादअधीक्षकनेबतायाकिउन्हेंयहजानकारीमिलीथीकिदरधानदीझलासमेंफिरसेशराबबनानेकाकार्यकियाजारहाहै।जानकारीमिलतेहीइंस्पेक्टरनिरंजनकुमारझा,सहायकअवरनिरीक्षकअजयकुमारप्रसादतथासुरेशपासवानकेसाथहीसैप,होमगार्डतथाउत्पादपुलिसकेसाथवहांछापेमारीकीगई।उन्होंनेकहाकियहसहीहैकिदरधानदीझलासइसधंधेकेलिएमशहूररहाहैलेकिनउत्पादविभागकीनजरसेवेलोगबचनहींपाएंगे।उनलोगोंकेखिलाफयहअभियाननिरंतरजारीरहेगा।