चुनावी ड्यूटी में झूठ पड़ सकता है भारी, बीमार बताने वालों की होगी जांच

गोपालगंज:चुनावड्यूटीकटवानेकेलिएझूठबोलनाभारीपड़ेगा।अतिगंभीरबीमारीकाहवालादेनेवालेयदिजांचमेंठीकमिलेतोगंभीरपरिणामभुगतनेकोतैयाररहेंगे।जिलानिर्वाचनअधिकारीनेस्वास्थ्यकारणोंसेचुनावड्यूटीकटवानेकेलिएआवेदनकरनेवालोंकीमेडिकलबोर्डसेजांचकरानेकीव्यवस्थाकानिर्देशहै।यदिकर्मचारीवाकईमतदानयामतगणनाकरानेकेअयोग्यमिलेगातभीबोर्डड्यूटीकटवानेकीसंस्तुतिकरेगा।यदिऐसानहींहुआतोजांचकासामनाकरनापड़ेगा।

कार्मिककोषांगकेसूत्रबतातेहैंकिऐसेकर्मीजोखुदकोबीमारबताकरचुनावीड्यूटीसेमुक्तिपानेकेप्रयासमेंहैं,उनकीजांचकेलिएमेडिकलबोर्डबनायाजाएगा।पुरुषकर्मचारियोंकीजांचकेलिएगठितमेडिकलबोर्डमेंफिजीशियन,सर्जन,हड्डीकेडॉक्टरवनेत्ररोगविशेषज्ञशामिलहोंगे।यदिकर्मचारीमहिलाहैतोस्त्रीएवंप्रसूतिरोगविशेषज्ञकोभीबोर्डमेंरखाजाएगा।यदिकर्मचारीडायबिटीजबतारहाहैतोब्लडसुगरकीरैंडमजांचकेसाथअन्यजांचभीहोगी।हार्टकामरीजबतानेपरईसीजीऔरअन्यजांचेंकराईजाएंगी।मेडिकलबोर्डइनआवेदकोंकीपुरानीमेडिकलहिस्ट्रीकीभीपड़तालकरेगा।देखाजाएगाकिमर्जक्याहैऔरमरीजकितनेदिनोंसेपीड़ितहैं।साथहीजोदवाखातेहैं,उसकाअसरकितनाहै।मरीजकोबीपीहैऔरवहजोदवाखातेहैं,उसकाकोईअसरनहींहोरहाहैतोबोर्डठीकसेइलाजकीसुझावभीदेगा।