घूंघट की ओट से बाहर निकल कर बदल दी गांव की तकदीर

बरेली,जेएनएन। विकासखंडआलमपुरजाफराबादकीग्रामपंचायतबाहनपुरविकासकार्योंसेचमकरहीहै।महिलाप्रधानकांतादेवीनेघूंघटकीओटसेबाहरनिकलकरलगनऔरमेहनतकेबलपरग्रामपंचायतकोविकासकेनएआयामदिए।गांवकेलोगोंकोइसकालाभमिलरहाहै।इनकार्योंकेचलतेहीकांतादेवीकोरानीलक्ष्मीबाईपुरस्कारसेसम्मानितभीकियाजाचुकाहै।

करीबढाईहजारसेअधिकआबादीवालागांवबाहनपुरकईवर्षोंसेविकासकीराहदेखरहाथा।पूर्वमेंभीगांवमेंंकईकार्यकराएगएलेकिनमूलभूतचीजोंकीजरूरतबनीहीरही।कांतादेवीनेगांवकीप्रधानबननेकेबादसबसेपहलेप्रधानमंत्रीद्वाराचलाएजारहेस्वच्छताअभियानसेखुदकोजोड़ा।पूर्वमेंभीशौचालयबनवाएगएथे,लेकिनउनकाउपयोगनहींहोरहाथा।वहींकईग्रामीणोंकेशौचालयभीनहींबनेथे।

ऐसेलोगोंकोचिन्हितकियागया।इसकेबादउनकेशौचालयोंकोपासकराकरबनवायागया।गांवकेलोगोंकोस्वच्छताकेलिएजागरूककियागया।पहलेसालमेंहीऐसारिस्पांसआयाकिप्रदेशसरकारनेउन्हेंरानीलक्ष्मीबाईसरकारकेलिएचुना।सरकारसेपुरस्कारहासिलकरनेकेबादउन्होंनेगांवमेंविकासकेलिएएकबादएककईकार्यकराए।

गांवकेविद्यालयअबपहलेसेकाफीअच्छाहोगयाहै।इससेबच्चोंकोशिक्षाकामाहौलमिलेगा। -अनिल,निवासी

हरबारकुछनकुछरहजाताथा।इसबारकाफीकामहुआहै।साफसफाईभीकराईजातीहै। -धर्मपाल,निवासी

पहलीसालमेंहीगांवकीप्रधानकोपुरस्कारमिलाथा।इसकेबादखूबकामकराएगए।- डालचंद्र,निवासी

गांवकेलोगोंनेजिसउम्मीदसेजिम्मेदारीदीथी।उसेपूराकरनेमेंकोईकसरनहींछोड़ी।गांवमेंसीसी,खड़ंजाआदिबनवानेकेसाथहीसभीकोशौचालयदिलाए।विधवा,वृद्धावस्थाऔरदिव्यागंपेंशनभीदिलाई।आवासभीपात्रलाभार्थियोंकोहीदिलाएगए।  कांतादेवी,प्रधान