गुड्डी के दिव्यांग पुत्र को मिला सीएम रघुवर का सहारा

दुमका:दुमकाकेअमराकुंडागांवकीगुड्डीदेवीअपनेदिव्यांगपुत्रकमलेशरायकोगोदमेंलिएसोमवारकोभीड़कोचिरतेहुएमुख्यमंत्रीरघुवरदासकेजनचौपालकेमंचतकपहुंचीतोउसकीसांसेंकाफीतेजचलरहीथी।गुड्डीकोउसवक्ततकयकीननहींथाकिमुख्यमंत्रीउसकीफिरयादकोसुनकरफौरीउसकाहलनिकालदेंगे।मंचपरजाकरजबउसनेअपनेपुत्रकीव्यथासुनाकरन्यायकीगुहारलगाईतोमुख्यमंत्रीरघुवरदासनेतुरंतयहएलानकियाकिमुख्यमंत्रीविवेकाधीननिधिसेकमलेशकाइलाजहोगाऔरइसकेलिएदोदिनकेअंदरउसेजिलेकेउपायुक्तसेएकलाखरुपएमुहैयाकरादियाजाएगा।सीएमनेतोतुरंतहीमंचपरमौजूदउपायुक्तमुकेशकुमारकोआदेशदियाकिदोदिनोंकेअंदरयहराशिगुड्डीकोमुहैयाकरादियाजाए।इससेपूर्वमुख्यमंत्रीनेजामाविधानसभाकेरामगढ़प्रखंडकेकर¨बधामैदानमेंआयोजितजनचौपालमेंग्रामीणोंसेसंवादकरतेहुएकहाकिझारखंडकासमग्रविकासजनसहभागिताकेबगैरसंभवनहींहै।रघुवरनेकहाकिदेशकीआजादीके67सालबादभीगांवकीजनतासड़क,बिजली,पानी,शौचालय,आवासजैसीबुनियादीसुविधाओंकेलिएतरसतीरहीहैलेकिनअबपरिस्थितियांतेजीसेबदलरहीहैं।केंद्रमेंनरेंद्रमोदीकीसरकारकेआनेसेसबकासाथसबकाविकासकामार्गप्रशस्तहोरहाहै।झारखंडकीधरतीपरभीबदलावकीबयारहै।14सालतकभ्रष्टाचारकेलिएप्रसिद्धझारखंडमेंअबबदलावकीबयारहै।पिछलेचारसालोंमेंउनकीसरकारपरभ्रष्टाचारकाकोईदागनहींलगाहै।स्थिरसरकारकीवजहसेविकासकोगतिमिलीहै।चारसालपूर्वतकराज्यमें18फीसदघरोंमेंशौचालयथाऔरअब100फीसदघरोंमेंशौचालयबनचुकेहैं।राज्यमेंनकारात्मककृषिविकासदरमेंभी18फीसदकाउछालआयाहै।रघुवरनेकहाकिआदिवासियोंकीभावनापवित्रहोतीहै।येभोले-भालेऔरसरलहोतेहैं।ईमानदारहोतेहैं।रघुवरनेकहाकिउनकीमंशाहैकिबालीजोरहीनहींबल्किझारखंडकेएक-एकगांवमेंसमग्रविकासहो।सुख,शांतिवसमृद्धिघर-घरमेंहो।चाहतेहैंकिमानवसंसाधनकाविकासहो।इसकेलिएजरूरीहैकिनईसोचग्रामीणखुदमेंपैदाकरेंक्योंकिबार-बारसरकारउनकेबीचनहींआएगी।ग्रामीणअपनीसोचकोबदलें।पुरानेढर्रेकोत्यागेंऔरसमयकेसाथचलनासीखें।अगरऐसानहींकिएतोटुकुर-टुकुरदेखतेरहजाएंगे।प्रयत्नकरनेसेहीपरिवर्तनहोसकताहै।सामाजिकऔररचनात्मककाममेंदेरहोतीहैलेकिनअंधेरनहींहै।कहाकिगांवोंकेविकासमेंसामूहिकभागीदारीतयहो।रघुवरनेयुवाओंसेकहाकिगांवकोनशामुक्तबनाएं।ताड़ी-हड़ियापीकरटन-टनकरनाबंदहो।गांवकीमहिलाओंकोनसीहतदेतेहुएकहाकिवेपौष्टिकआहारजरूरलें।साग-सब्जीखाएं।कहाकिझारखंडमेंमीठीक्रांतिलानाहै।इसकेलिएमहिलाएंशहदउत्पादनसेजुड़ें।प्रत्येकजिलेमेंमधुप्रोसे¨सगयूनिटकीस्थापनाहोगी।इसकेलिएयोगगुरुरामदेवसेबातहुईहै।जनचौपालमेंरघुवरनेग्रामीणोंसेकहाकिउनकीजमीनकोईभीसरकारनहींछीनसकतीहै।आदिवासी-मूलवासीकेनामपरकुछलोगभ्रमफैलारहेहैंउनसेसावधानरहनेकीजरुरतहै।संवादकेदौरानसूबेकीसमाजकल्याणमंत्रीडॉ.लुईसमरांडी,उपायुक्तमुकेशकुमारसमेतकईगण्यमान्यमौजूदथे।जनचौपालकेदौरानमुख्यमंत्रीनेपांचमहिलाएवंपांचपुरुषोंसेसीधासंवादकियाऔरउनकीसमस्याओंकोसुनकरउनकेनिदानकाभरोसादिया।इसमौकेपरयहांमुख्यमंत्रीकन्यादानयोजना,मुखजुट्ठीसमेतकईआयोजनोंमेंसीएमहिस्सालिएऔरलाभुकोंकेबीचपरिसंपत्तियोंकावितरणभीकिए।