हाईकोर्ट के निर्देश पर गठित पांच सदस्यीय कमेटी ने दस्तावेज मांगे, एक महीने में देनी है रिपोर्ट

मप्रआयुर्विज्ञानयूनिवर्सिटीमेंपैसेलेकरपास-फेलकरनेसहितअन्यअनियमितताकेमामलेकीजांचविशेषकमेटीनेशुरूकरदीहै।हाईकोर्टकेनिर्देशपरगठितपांचसदस्योंकीइसकमेटीमेंरिटायर्डजस्टिसकेकेत्रिवेदीकोअध्यक्षबनेहैं।उनकीअगुवाईमेंचारअन्यसदस्योंनेविविपहुंचकरजांचशुरूकरदीहै।कमेटीनेविविसेधांधलीसेजुड़ेसभीदस्तावेजमांगेहैं।

विविसूत्रोंकेमुताबिकजांचकमेटीनेविविमेंपहुंचकरपरीक्षासंबंधीगड़बड़ियों,ऑनलाइनकामसंभालनेवालीठेकाकंपनीसेसंबंधीदस्तावेजमांगे।कमेटीनेजांचकेबिंदुओंकोतयकरतेहुएइसकीविस्तृतसूचीविविप्रशासनकोदीहै।इनदस्तावेजोंकेसाथहीसायबरक्राइमएडीजीपास-फेलकोलेकरकिएगएईमेल-ऑनलाइनभुगतानकीतकनीकीपक्षकीजांचमेंजुटीहै।

समितिकेसभीसदस्यपहुंचेहैंजबलपुर

हाईकोर्टकेनिर्देशपरगठितजांचसमितिकेपांचोंसदस्यजबलपुरपहुंचेहैं।कमेटीकेअध्यक्षरिटायर्डजस्टिसकेकेत्रिवेदी,सदस्यसायबरक्राइमकेएडीजीयोगेशदेशमुख,राजीवगांधीप्रौद्योगिकीविविकेकुलपतिडॉ.सुनीलकुमारगुप्ता,एमपीएसइडीसीमेंसीनियरकंसलटेंटविरलत्रिपाठीऔरएमपीएसइडीसीमेंटेस्टिंगइंजीनियरिंगप्रियंकसोनीकोएकमहीनेमेंअपनीजांचपूरीकररिपोर्टहाईकोर्टमेंपेशकरनीहै।

विविकेअधिकारियोंसेघंटोंचर्चा

कमेटीनेविविकेप्रशासककुलपतिसहितअन्यअधिकारियोंकेसाथकॉफ्रेंसरूममेंघंटोंचर्चाकी।पहलेइसपूरेप्रकरणकोसमझा।टर्मिनेटकिएगएठेकाकंपनीमाइंडलाजिस्ककेकामोंकोसमझा।इसकेबादपूर्वकीविभागीयजांचकीरिपोर्टकोउससेजुड़ेदस्तावेजमांगे।कमेटीकीजांचशनिवारकोभीजारीहै।कमेटीकीजांचकेबादसेविविमेंहड़कंपमचाहुआहै।

येहैपूरामामला

एमयूमेंपरीक्षा-परिणामसंबंधीकार्यकरनेवालीठेकाकंपनीमाइंडलॉजिक्सकेगोपनीयविभागकेएकबाबूकोनिजीमेलपररिजल्टभेजेजानेकेखुलासेकेबादकईगड़बडियांउजागरहुईथी।चिकित्साशिक्षाविभागकीजांचमेंहीविविमेंफेल-पासकीगंभीरअनियमितताकीप्रारंभिकजानकारीसामनेआयींथी।

उसकेबादघोटालापकड़नेवालेअधिकारियोंकोहीआनन-फाननमेंहटादियागया।विविमेंइसअनियमितताकोलेकरहाईकोर्टमेंजनहितयाचिकालगाईगई।इसयाचिकाकेआधारपरहाईकोर्टकेनिर्देशपरराज्यसरकारनेइसजस्टिसकेकेत्रिपाठीकीअध्यक्षतामेंपांचसदस्यीयकमेटीबनाईहै।कमेटीकोएकमहीनेकीमोहलतदीगईहै।