इंटर विद्यालय चंदा में नहीं है शिक्षक

संवादसूत्र,ओबरा(औरंगाबाद):प्रखंडकेइंटरविद्यालयचंदाकाइनदिनोंहालबेहालहै।कहनेकोयहइंटरविद्यालयहैंपरयहांसुविधाएंनदारदहै।कभीयहविद्यालयसुर्खियोंमेंरहाकरताथा,परदिनोंअपनीदशापरआंसूबहारहाहै।विद्यालयकेसभीभवनजर्जरपड़ेहै।जर्जरभवनरहनेसेछात्र-छात्राएंइंटरविद्यालयकेभवनमेंशिक्षाग्रहणकरनेकोविवशहैं।अबइससेअंदाजालगायाजासकताहैकिअगरइंटरविद्यालयकाभवननहींहोतातोमाध्यमिकविद्यालयकेबच्चेकहांपढ़ते।छात्र-छात्राएंदूरसेविद्यालयआकरशिक्षाग्रहणकरतेहैं।माध्यमिकविद्यालयमेंउर्दूएवंहिदीकेशिक्षकनहींहै।अबसोचाजासकताहैकिहिदूमातृभाषाहैऔरउसकेशिक्षकनहींहै।शिक्षकोंकीमानेंतोइंटरविद्यालयमेंमात्रराजनीतिशास्त्र,इतिहासएवंगणितकेमात्रएकशिक्षकपदस्थापितहै,शेषअन्यविषयकेशिक्षकनहींहै।शिक्षकनहींहोनेसेछात्र-छात्राओंकोशिक्षाग्रहणकरनेमेंघोरपरेशानीहोरहीहै।शिक्षाविभागकेद्वाराशिक्षाकीगुणवत्ताहेतुलाखप्रयासकियाजारहाहै,परंतुशिक्षाकीस्थितिबदसेबदतरहोतेजारहीहै।प्रधानाध्यापकप्रियरंजनकुमारकश्यपनेबतायाकिविद्यालयमेंभवनएवंशिक्षकोंकेअभावहै,जिसकीसूचनाडीईओकोलिखितरूपमेंभेजागयाहै,परंतुइसकेप्रतिविभागद्वाराकोईकार्रवाईनहींकीगईहै।फिलहालमाध्यमिकविद्यालयकेछात्रइंटरविद्यालयमेंहीशिक्षकग्रहणकरतेहैं।