जम्मू-कश्मीर में समग्र विकास का नया इकोसिस्टम हो रहा तैयार, लोग भी हैं खुश

श्रीनगर,नवीननवाज:केंद्रशासितजम्मूकश्मीरप्रदेशमेंबीतदोसालोंमेंबहुतकुछबदलगयाहै।सिर्फसंवैधानिकव्यवस्थाहीनहींबदलीहै,पूरामाहौलबदलगयाहै।विकासऔरआर्थिकखुशहालीकेमुद्दोंपरहीलोगअबचर्चाकरतेनजरआतेहैं,क्योंकिविकासपरियाजनाओंकाअसरजमीनपरभीनजरआनेलगाहै।जम्मू-कश्मीरमेंसमग्रविकासकाएकनयाइकोसिस्टमतैयारहोरहाहैजोयहबतारहाहैकिअबतकअनुच्छेद370नेहीभारतकामुकुटकहेजानेवालेजम्मू-कश्मीरकेविकासकोजंजीरोंमेंजकड़रखाथा।

पांचअगस्त2019कोजम्मू-कश्मीरपुनर्गठनअधिनिमलागूहोनेकेबादजम्मू-कश्मीरमेंमहिलासशक्तिकरणकीतस्वीरबदलगईहै।पहलेस्थानीयलड़कियांप्रदेशसेबाहरशादीकरनेपरअपनेसभीअधिकारोंसेवंचितहोजातीथी,अबवेयहांसंपत्ति,नाैकरीसमेतसभीअधिकारोंकीबराबरकीहकदारबनचुकीहैं।वनीयसंपदापरवनवासियोंकेअधिकारतयहोरहेहैं।अनुसूचितजातियोंवजनजातियोंकेराजनीतिक,आर्थिकवसामाजिकअधिकारोंकोबहालकियाजारहाहै।

पश्चिमीपाकिस्तानकेशरणार्थीजो1947मेंजम्मू-कश्मीरमेंएकसुखदजीवनकीउम्मीदमेंआएथेऔेररिफ्युजीबनकररहगएथे,अबरिफ्युजीनहींरहेहैं।इसीतरह1953मेंपंजाबसेजम्मू-कश्मीरमेंआएसफाईकर्मीभीनागरिकताकेअधिकारसेवंचितथे,वहजम्मूकश्मीरमेंसरकारीनौकरीकेहकदारनहींथेऔरसिर्फसफाईकर्मीहीबनकररहगएथे,अबप्रदेशमेंकिसीभीसरकारीविभागमेंअपनीयोग्यताकेमुताबिकनौकरीकरसकतेहैं।आजवहबाहरीनहींरहे,उन्हेंकोईनहींदुत्कारसकता।

पाकिस्तानसे1947मेंआएशरणार्थीऔरपंजाबसेआएसफाईकर्मीअबजम्मूकश्मीरमेंबराबरीकेनागरिकहैं,जमीनजायदादखरीदसकतेहैं।इससेबड़ीविडम्बनाऔरक्याहोगीकिदेशकेविभिन्नहिस्सोंसेजोफौजीऔरसुरक्षाकर्मीजोजम्मूकश्मीरमेंआतंकियोंकामुकाबलाकरनेसेलेकरएलओसीपरदुश्मनकेमंसूबोंकोनाकामबनातेहैं,वहभीचाहकरजम्मू-कश्मीरमेंनहींबससकतेथे।आजउन्हेंभीयहांबसनेकाहकमिलाहै।

सिर्फजम्मूकश्मीरमेंदेशकेहरहिस्सेकेनागरिककेलिएबसनेकारास्ताहीनहींखुलाहै,पांचअगस्त2019केबदलावनेजम्मूकश्मीरकेकारोबारीजगतमेंकुछेकलाेगोंकेवर्चस्वकोभीतोड़ाहै।लघुखनिजोंकेउत्खननकाठेकाहरबारजम्मूकश्मीरकेकुछेकचुनिंदापरिवारोंकोहीमिलताथाऔरसरकारीखजानेमेंमात्रचारपांचकरोड़काराजस्वजमाहोताथा।अबयहवर्चस्वसमाप्तहोगयाहैऔरसरकारीखजानेमेंचारपांचकरोड़सेकरीब50-60गुणाज्यादाकीराशिजमाहुईहै।इसकेअलावास्थानीययुवाओंकेलिएरोजगारकेनएअवसरभीखुलेहैं।

पंचायतोंकोअपनेअपनेस्तरपरलघुखनिजोंकेब्लाककेठेकेआबंटितकरनेकाअधिकारमिलाहै।शराबमाफियासमाप्तहुआहै,नयीआबकारीनीतिनेसबकुछबदलदियाहै।सरकारीखजानेमेंकरीब140करोड़जमाहुएजबकिपहलेचंदपरिवारोंकाशराबकाराबारपरकब्जाथाऔरमहज10करोड़रूपयेकेआस-पासहीसालानाशराबबिक्रीलाइसेंसकेनामपरजमाहोतेथे।अबहरसालठेकाउठेगा।शिक्षाकाअधिकारभीलागूहोचुकाहै,मतलबअबकाईभीबच्चास्कूलजानेसेनहींबचेगा।समाजकेहरवर्गकेबच्चेकोआगेबढ़नेकासमानअवसरमिलेगा।

जम्मूकश्मीरकेवरिष्ठपत्रकारएजाजनेकहाकिबीतेदोसालोंमेंआएबदलावकाेआपहरजगहमहसूसकरसकतेहैं।विकासकीबातछोड़िए,आजअगरजम्मूकश्मीरमेंकोईपाकिस्तानीरिफ्यूजीनहींहैंतोयहपांचअगस्त2019कानतीजाहै,अगरसफाईकर्मियोंकेबच्चोंकाभविष्यसुनहराहुआहै,तोयहभीजम्मू-कश्मीरपुनर्गठनअधिनियमकीदेनहै।सरहदपरदुश्मनसेलड़नेवालाफौजीअबअगरजम्मूकश्मीरमेंघरबनासकताहैतोयहअनुच्छेद370कीसमाप्तिकानतीजाहै।आजजम्मू-कश्मीरमेंसामाजिकविकासऔरसमरसताकाइकोसिस्टमनजरआरहाहैतोइसकानिर्माणपांचअगस्त2019कोहीशुरुहुआहै