JNU स्टूडेंट गुमशुदगी मामले में CBI ने दिल्ली हाई कोर्ट से कहा, अपराध का कोई सबूत नहीं मिला

नईदिल्ली:जेएनयूछात्रनजीबअहमदकीगुमशुदगीमामलेमेंसीबीआईनेआजदिल्लीहाईकोर्टकोबतायाकियहमहजकिसीव्यक्तिकी‘गुमशुदगी’कामामलाहैक्योंकिअबतकऐसे‘कोईसाक्ष्यनहींमिलेहैं’जिससेपताचलेकिअपराधहुआहै.एकसालपहलेयहमामलाजांचकेलिएसीबीआईकोसौंपागयाथा.

नईदिल्ली:

जांचएजेंसीनेपिछलेसाल16मईकोमामलाअपनेहाथमेंलियाथा.उसनेहाईकोर्टकोबतायाकिमामलेमेंकिसीकोगिरफ्तारकरनेयाअहमदकेलापताहोनेकेमामलेमेंसंदिग्धनौछात्रोंकेखिलाफअनिवार्यकार्रवाईकोलेकरइसवक्तउसकेपासऐसेकोईसबूतनहींहै.

जांचएजेंसीनेन्यायमूर्तिएसमुरलीधरऔरन्यायमूर्तिआईएसमेहताकीपीठकोबतायाकिसेंट्रलफॉरेंसिकसाइंसलेबोरेटरी(सीएफएसएल)चंडीगढ़सेसंदिग्धछात्रोंकेनौमेंसेछहमोबाइलफोनसेजोडेटामिले,उससेइनके(संदिग्धछात्रोंके)खिलाफलगेआरोपोंकादूरदूरतककिसीसंबेधकाकोईपतानहींचलता.

सीबीआईकेवकीलनेअदालतकोबताया,‘अभीहमइसस्थितिमेंनहींहैंकिइसबातकीपुष्टिकरसकेंकिअपराधहुआभीहैयानहीं.’जांचएजेंसीनेबतायाकिसीएफएसएलचंडीगढ़तीनमोबाइलफोनकीजांचनहींकरसका,क्योंकिदोफोनक्षतिग्रस्तहालतमेंहैंऔरतीसरेमेंपैटर्नलॉकलगाहुआहै,जिसेअनलॉकनहींकियाजासका. सीबीआईनेबतायाकिइनतीनोंफोनकोहैदराबादस्थितइसकेसीएफएसएलमेंभेजाजाएगा,जहांउम्मीदहैकिइनकीजांचहोसकेगी.

अहमदकीमांफातिमानफीसकीओरसेवरिष्ठअधिवक्ताकोलिनगोंजाल्विसनेबतायाकिसीबीआईकीस्थितिरिपोर्टमेंमौजूदजानकारीउन्हें(अहमदकीमांको)उपलब्धकरानीहोगीऔरइससेउन्हेंअलगनहींरखाजासकताहै.उन्होंनेसीबीआईकोयहनिर्देशदेनेकाअनुरोधकियाकिवहसुनवाईकीहरतारीखपरउत्तरप्रदेशमेंअपनेघरसेदिल्लीआनेकेलियेफातिमाको10,000रुपयेकाभुगतानकरे.

नजीबअहमद15अक्तूबर2015सेलापताहै.

(इनपुट-भाषा)