जर्जर भवन के नीचे पढ़ाई कर रहे बलहेपुर परषदीय विद्यालय के बच्चे

संसू,कसेंदा,कौशांबी:बीआरसीनेवादाप्राथमिकविद्यालयबलहेपुरकेभवनसमेतस्कूलकीबाउंड्रीवालपूरीतरहसेजर्जरहोचुकीहै।छतकेनीचेचारकमरोंकेभवनमेंपढ़ाईकररहेबच्चोंसमेतकार्यालयभवनमेंबैठनेवालेअध्यापकोंकोजानकाखतराबनारहताहै।शिक्षकोंकेमुताबिकजर्जरभवनकिसीभीसमयगिरसकताहै।बड़ीअनहोनीहोनेकाभयबनारहताहै।इतनाहीनहींबारिशमेंस्कूलपरिसरमेंसिरछुपानेकीजगहनहींरहतीहै।स्कूलअभिलेखोंकोभीबचानामुश्किलरहताहै।शिकायतकेबादभीअधिकारीध्याननहींदेरहेहैं।

निजीस्कूलोंकीतर्जपरबच्चोंकोबेहतरपढ़ाईकेसाथहीबैठनेकेलिएबेंच,साफऔरसुंदरतापूर्णवातावरणवचित्रकलाओंसेसुसज्जितस्कूलमेंगरीबबच्चेभीशिक्षाप्राप्तकरें।इसकेलिएपरषदीयविद्यालयकेसुंदरीकरणपरलाखोंरुपयेखर्चकियाजारहाहै।बावजूदइसकेजिम्मेदारअधिकारियोंकीलापरवाहीकेचलतेस्कूलोंकोसाफसुथरावसुंदररखपानामुश्किलहै।यहांतककीअभीकईस्कूलोंमेंबच्चोंकोजानजोखिममेंडालपढ़ाईकरनापड़ाहै।अध्यापकोंकोभीजानकाभयरहताहै।बीआरसीनेवादाकाबलहेपुरप्राथमिकविद्यालयमेंअपनीजिदगीदांवपरलगाकरबच्चेशिक्षाप्राप्तकरनेकोमजबूरहैं।वहींशिक्षकभीअपनेऔरबच्चोंकेसाथअनहोनीकीआशंकाजाहिरकरतेहुएपाठपाठनकरवारहेहैं।प्रधानाध्यपकसुखलालसिंहनेबतायाकिबारिशमेंस्कूलपरिसरमेंसिरछुपानेकीजगहनहींरहतीहै।साथस्कूलकेरजिस्टरवअन्यअभिलेखोंकोबरसातकीबूंदोंसेबचानामुश्किलहोताहै।विद्यालयमेंबनेचारकमरोंमेंकरीब100बच्चोंकोबैठाकरपढ़ायाजाताहै।भवनपूरीतरहसेजर्जरहोचुकेहैं।स्कूलकेचारोंओरबनीबाउंड्रीवालपूरीतरहसेजर्जरहोगईहै।इसकीशिकायतशिक्षकोंनेग्रामप्रधानवसचिवकेसाथहीखंडशिक्षाअधिकारीसेकीहै,लेकिनअबतकसुधारनहींहुआ।आपरेशनकायाकल्पभीयहांसफलहोतानहींदिखरहा।

बीएसएनेमांगीकायाकल्पकीजानकारी:जिलेकेहरविद्यालयकोकायाकल्पयोजनासेसुंदरबनानाहै।इसकेलिएशासनस्तरपरग्रामपंचायतकोधनभेजागयाहै।साथहीइसबातकाभीनिर्देशहैकिग्रामपंचायतविद्यालयकीअव्यवस्थाकीजिम्मेदारहै।इसकेबादभीस्कूलोंकीहालतमेंसुधारनहींहोरहाहै।इसकोलेकरबेसिकशिक्षाअधिकारीप्रकाशसिंहनेसभीखंडशिक्षाअधिकारियोंसेविद्यालयसेजुड़ीजानकारीमांगीहै।उन्होंनेबतायाकिविद्यालयमेंहुएकायाकल्पयोजनाकेकार्यसमेतअन्यप्रकारकेनिर्माणआदिकीजानकारीसभीखंडशिक्षाअधिकारियोंकोदेनाहै।