कानपुर का यह अस्पताल मरीजों को देने जा रहा बड़ी सहूलियत, एक ही जगह हो सकेंगी सभी जांचें

कानपुर,[जागरणस्पेशल]। जीएसवीएममेडिकलकालेजकेएलएलआरअस्पताल(हैलट)मेंअबएकहीछतकेनीचेखून-पेशाब,डेंगू-मलेरिया,कोरोना-स्वाइनफ्लू,एक्सरे,अल्ट्रासाउंड,सीटीस्कैनएवंएमआरआइजांचकीसुविधामिलेगी।यहसबसंभवहोगायहांबनाएजानेवालेडायग्नोस्टिकहबमें।इसकेलिए50करोड़रुपयेकाप्रस्तावतैयारकियाजारहाहै।इसकेबननेकेबादअबयहांदूर-दराजसेइलाजकेलिएआनेवालेमरीजोंवउनकेतीमारदारोंको पैथालाजिकलएवंरेडियोलाजिकलजांचकेलिएभटकनानहींपड़ेगा।डायग्नोस्टिकहबमेंबायोप्सीसेलेकरकैंसरमार्करटेस्टकेलिएसैंपलकलेक्शनकीभीसुविधाहोगी।

मेडिकलकालेजकेएलएलआरएवंसंबंधअस्पतालोंमेंअलग-अलगक्लीनिकलविभागसंचालितहैं।एलएलआरमेंमेडिसिन,आर्थोपेडिक,सर्जरी,नेत्ररोग,नाककानगलाविभाग,न्यूरोलाजीएवंन्यूरोसर्जरीविभागहैं।इसकेअलावाओपीडीएवंइमरजेंसीसेवाएंभीहैं।बालरोगअस्पतालमेंबालरोगविभाग,अपरइंडियाशुगरएक्सचेंज,जच्चा-बच्चाअस्पतालमेंस्त्रीएवंप्रसूतिरोगविभागऔरमुरारीलालचेस्टअस्पतालमेंरेस्पिरेट्रीमेडिसिनविभागहैं।संक्रामकरोगअस्पताल(आइडीएच)मेंएचआइवीसंक्रमितवअन्यसंक्रामकरोगोंसेपीडि़तइलाजकेलिएआतेहैं।इनविभागोंमेंडाक्टरकोदिखानेकेमरीजवउनकेतीमारदारोंकोजांचकरानेकेलिएभटकनापड़ताहै।

जीएसवीएममेडिकलकालेजकाभवनसड़कपारहै,जबकिदूसरीतरफएलएलआरअस्पतालहैं।अलग-अलगजांचेंअलग-अलगविभागोंमेंहोतीहैं।रुटिनकीजांचअस्पतालकी24घंटेपैथालाजीमेंहोतीहै।विशेषजांचोंमेंबायोप्सी,एफएनएसी,बोनमैरो,डेंगूऔर कीजांचकेलिएमेडिकलकालेजपरिसरस्थितपैथालाजीकीअलग-अलगयूनिटकीलैबमेंजानापड़ताहै।

मेडिकलकालेजकेकक्ष27मेंसैंपलकलेक्शन: मेडिकलकालेजकेपैथालाजीविभागनेकक्षसंख्या27मेंसैंपलकलेक्शनकीसुविधादीहुईहै।यहां11बजेसुबहतकहीमरीजोंकेसैंपललिएजातेहैं।उसकेबादजबएलएलआरअस्पतालसेमरीजोंकोभेजाजाताहैतोलौटादियाजाताहै।इंडोस्कोपी,कोलोनास्कोपीकेअलावासर्जरीसेजुड़ीजांचें,एक्सरेएवंअल्ट्रासाउंडजांचकेलिएमरीजोंवउनकेस्वजनस्ट्रेचरलेकरदौड़तेरहतेहैं।

इनकायेहैकहना:

डायग्नोस्टिकहबकेलिए50करोड़रुपयेकाप्रस्तावबनायाजारहाहै।इसदोमंजिलाभवनमेंहरप्रकारकीजांचकीसुविधाहोगी।जल्दहीप्रस्तावतैयारकरमंडलायुक्तकोदियाजाएगा।-प्रो.संजयकाला,प्राचार्य,जीएसवीएममेडिकलकालेज।