कैसा पानी पी रहे हैं आप...आसानी से करा सकेंगे जांच, कोरोना टेस्ट सिस्टम का मिलेगा फायदा

नईदिल्लीआपजोपानीपीरहेहैंअबआसानीसेउसकीजांचकरवासकेंगे।केंद्रसरकारकेराष्ट्रीयजलजीवनमिशननेइससंबंधमेंएकऑनलाइनपोर्टललॉन्चकियाहै।केंद्रसरकारइसकेलिएकोविड-19टेस्टिंगऔरमॉनिटरिंगकेलिएतैयारकीगईतकनीकीक्षमताकालाभउठाएगी।इसकेलिएआईसीएमआरकेसाथपार्टनरशिपकीगईहै।इसकेतहतयूजर्सकोअपनेपेयजलकीक्वालिटीकापतालगानासंभवहोसकेगा।इसकामकेलिएदेशभरमेंलगभग2,000लैब्सकेनेटवर्ककीमददलीजासकेगी।आईसीएमआरकीतकनीककामिलेगाफायदाजलगुणवत्तासूचनाप्रबंधनप्रणाली'(WQMIS)यहसुनिश्चितकरेगीकिकिसीभीप्रतिकूलरिपोर्टकोऑटोमेटिकलीराज्यऔरकेंद्रीयस्तरकेअधिकारियोंकेपासभेजाजाए।इससेपीनेकेपानीकीआपूर्तिकेस्रोतपरसुधारात्मककार्रवाईकीजासकेगी।यहसिस्टमकोविड-19टेस्टमॉनिटरिंगकेलिएआईसीएमआरकेमजबूतऑनलाइनपोर्टलकेकामकरनेकेतरीकेपरकामकरेगा।महिलाओंकोसशक्तबनानेकेसाथहीरोजगारपैदाहोगाकेंद्रीयजलशक्तिमंत्री,गजेंद्रसिंहशेखावतनेकहाकि'हरघरजल'सिर्फएकबारकाबुनियादीढांचाकार्यक्रमनहींहै।उन्होंनेकहाकियहफ्रंटलाइनश्रमिकोंकीक्षमताकेनिर्माण,महिलाओंकोसशक्तबनानेऔरगांवोंमेंरोजगारपैदाकरनेकीदिशामेंएकलंबारास्तातयकरेगा।गांव-स्तरपरपीनेकेपानीकाप्रारंभिकपरीक्षणप्रशिक्षितमहिलाश्रमिकोंद्वाराफील्डकिट(FTK)काउपयोगकरकेकियाजाएगा।देशकेप्रत्येकगांवमेंएफटीकेपरीक्षणकरनेकेमहिलाओंकोप्रशिक्षितकियाजाएगा।जरूरतपड़नेपरलैबमेंभेजाजाएगासैंपलयदिआवश्यकहो,तोसैंपलकोकन्फर्मेशनटेस्टकेलिएकेलिएनिकटतमलैबमेंभेजाजाएगा।एकअनुमानकेअनुसार,टेस्टमेंआर्सेनिकऔरफ्लोराइडसामग्रीसहित12चिह्नितकिएगएपैरामीटर्सकेलिए180-600रुपयेकाखर्चआएगा।इसलागतकोग्रामजलऔरस्वच्छतासमितिवहनकरेगी।इसमें8-10बेसिकपैरामीटर्सपरपानीकेसैंपलकीजांचकीलागत200रुपयेसेअधिकनहींहोगी।वर्तमानमेंWQMISसेअभी1933लैबजुड़ीहुईहैं।साल2021में50हजारकरोड़काबजटकेंद्रसरकारनेजलजीवनमिशनके1000हजारकरोड़रुपयेकेबजटमेंसेकरीब2फीसदीपेयजलआपूर्तिकीगुणवत्ताकीजांचकेलिएरखाहै।जलजीवनमिशनकेतहतसाल2024तकदेशकेहरग्रामीणघरोंमेंनलकेजरियेजलउपलब्धकरानेकीयोजनाहै।जलशक्तिमंत्रालयनेराज्योंकेजलसंसाधनमंत्रियोंऔरWQMISकेसाथटेस्टिंगसिस्टमकीरूपरेखापरचर्चाकीहै।