खजाना खाली, फिर भी शहर कूड़ा-कूड़ा

जागरणसंवाददाता,ग्रेटरनोएडा:सफाईकेनामपरग्रेटरनोएडाप्राधिकरणहरसालकरोड़ोंरुपयेखर्चकरनेकादावाकरताहै।बावजूदइसकेलोगनारकीयजीवनजीनेकोमजबूरहैं।जबकिप्राधिकरणकीफाइलोंमेंगांवोंमेंसफाईकेलिएसफाईकर्मियोंकीलंबीचौड़ीफौजलगीहै।प्राधिकरणनेशहरसेलेकरदेहाततकगंदगीसेनिजातदिलानेकेलिएजोनमेंबांटकरतीनकंपनियोंकोसफाईव्यवस्थाकीजिम्मेदारीसौंपरखीहै।बावजूदइसकेग्रेटरनोएडास्वच्छताकेपैमानेसेकोसोंदूरहै।अधिकारीकुंभकरणीयनींदसोएहुएहैं।शिकायतकरनेकेबादभीनहींहोतासुधारग्रेटरनोएडावेस्टमेंगांवोंकीस्थितिज्यादाखस्ताहालहै।नालेगंदगीसेबजबजारहेहैं।ग्रेटरनोएडावेस्टकेसैनीसुनपुरा,सादुल्लापुर,खेड़ीभनौतासमेतदर्जनोंगांवोंमेंविकासकार्यतोदूरपानीनिकासीकीव्यवस्थातकनहींहै।गांवोंकागंदापानीमुख्यसड़कोंपरबहरहाहै।जगह-जगहगंदगीपसरीहुईहै।ग्रामीणसंक्रामकरोगफैलनेकीआशंकाजतारहेहैं।समस्यासेनिजातपानेकेलिएनिवासीकईबारलिखितवमौखिकशिकायतग्रेटरनोएडाविकासप्राधिकरणकोसौंपचुकेहैं।उसकेबादभीसमस्यासेनिजातनहींमिलीहै।सेक्टरकीतर्जपरविकासकाकियाथावादा

जमीनअधिग्रहणकेदौरानग्रेटरनोएडाविकासप्राधिकरणनेग्रामीणोंकोसेक्टरकीतर्जपरविकासकरनेकासब्जबागदिखाया।धीरे-धीरेगांवोंमेंपंचायतीराजव्यवस्थाकोभीसमाप्तकरदिया।पंचायतीराजव्यवस्थासमाप्तहोनेकेबादअधिकारियोंनेगांवोंकीसुधलेनाहीछोड़दिया।

-जमीनअधिग्रहणके15सालबादभीगांवविकाससेअछूतेहैं।मुख्यमार्गगड्ढेमेंतब्दीलहै।गांवमेंपानीनिकासीकीव्यवस्थाउचितनहींहै।गांवमेंमच्छरजनितबीमारियोंकाप्रकोपहै।

-जययादव,पतवाड़ीप्राधिकरणनेगांवकाविकासकार्यनहींकरायाहै।स्वच्छताकेनामपरसफाईकर्मीऔपचारिकतानिभाकरचलेजातेहै।

-धीरजसिंहआर्य,खेड़ाचौगानपुर-गांवमेंपानीनिकासीकीउचितव्यवस्थानहींहै।गांवकागंदापानीतालाबवसड़कपरजमाहोरहाहै।आनेजानेमेंभीलोगकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताहै।

-सुरजीतसिंह,सादुल्लापुर