खंडहर में तब्दील हो गया विस्थापित उच्च विद्यालय

जागरणसंवाददाता,बोकारो:चासप्रखंडकेबांधगोड़ासाइडमेंहरिलामध्यविद्यालयकेनिकटपूर्वमंत्रीअकलूराममहतोऔरपूर्वविधायकयोगेश्वरमहतोबाटुलकीपहलपरवर्ष1987-88मेंविस्थापितउच्चविद्यालयकीस्थापनाकीगईथी।बीएसएलप्रबंधनकीओरसेइसविद्यालयकेलिएछहकमरेकानिर्माणभीकरायागयाथा।इसमेंविद्यार्थियोंकोशिक्षाप्रदानकीजातीथी।लेकिनतमामकोशिशकेबावजूदइसविद्यालयकानतोसरकारीकरणहोसकाऔरनहीस्थापनाअनुमतिमिलसकी।इसलिएयहांअध्ययनरतविद्यार्थियोंकारजिस्ट्रेशनदूसरेमान्यताप्राप्तविद्यालयसेकरायाजानेलगा।धीरे-धीरेयहांविद्यार्थियोंकीसंख्याभीकमहोनेलगी।बेहतरदेखरेखकेअभावमेंआजयहभवनखंडहरकेरुपमेंतब्दीलहोगयाहै।

क्याथीयोजना:बांधगोड़ासाइटमेंहरिलामध्यविद्यालयकासंचालनकियाजाताहै।यहांविद्यार्थियोंकोकक्षाएकसेआठवींतककीशिक्षाप्रदानकीजातीहै।इसकेबादउच्चशिक्षाकेलिएयहांकेविद्यार्थियोंकोरामरुद्रउच्चविद्यालयकेअलावाअन्यविद्यालयोंमेंनामांकनकरानापड़ताहै,जोयहांसेअपेक्षाकृतदूरहै।उच्चविद्यालयकीस्थापनाहोनेसेबांधगोड़ासाइटकेअलावाआसपासकेग्रामीणबच्चेखासकरबच्चियोंकोकाफीसुविधामिलती।इसलिएयहांविस्थापितउच्चविद्यालयकीस्थापनाकीगई।इसकेमाध्यमसेबच्चोंकोमैट्रिकस्तरकीशिक्षाप्रदानकरनेकीयोजनाथी।लेकिनतकनीकीकारणसेइसविद्यालयकानतोसरकारीकरणहोसकाऔरनहीइसेस्थापनाअनुमतिहीमिलसकी।इसविद्यालयकेअध्यक्षपूर्वमंत्रीअकलूराममहतोवसचिवउपेंद्रनाथगोपथे।इसकेकोषाध्यक्षपूर्वविधायकयोगेश्वरमहतोबाटुलबनाएगएथे।पूर्वमंत्रीअकलूराममहतोऔरउपेंद्रनाथगोपभलेहीअबइसदुनियामेंनहींहैं।लेकिनउन्होंनेइसक्षेत्रमेंशिक्षाकेविकासकोलेकरसकारात्मकप्रयासकिया।समाजसेवीलालदेवगोपनेकहाकिक्षेत्रमेंउच्चविद्यालयनहींरहनेसेबच्चोंखासकरबच्चियोंकोकाफीपरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहै।हरिलामध्यविद्यालयकोहीउत्क्रमितकरउच्चविद्यालयमेंपरिवर्तितकरनाचाहिए।इससेविद्यार्थियोंकोकाफीसहूलियतहोती।