कोरोना की रोकथाम में आइआइटी मंडी का अहम योगदान

जागरणसंवाददाता,मंडी:भारतीयप्रौद्योगिकीसंस्थान(आइआइटी)मंडीनेमहामारीकीअनिश्चितताओंकेबावजूदशोधवनवोन्वेष(इनोवेशन)कीउपलब्धियोंकेसाथ2020पूराकिया।वैश्विकमहामारीकोरोनाकीअनदेखीचुनौतियोंसेनिपटनेकेलिएसंस्थानकीओरकईअहमकदमउठाएगए।2020केसमापनकेउपलक्ष्यपरवर्चुअलकार्यक्रममेंसंस्थानकेनिदेशकप्रो.अजीतकुमारचतुर्वेदीनेकहाकिमहामारीकेबावजूदसंस्थाननेशिक्षा,नई-नईखोजों,अंतरराष्ट्रीयसंपर्कों,छात्रोंकोरोजगारवव्यवसायइन्क्युबेशनकेक्षेत्रोंमेंप्रगतिकीहै।संस्थाननेएकआत्मनिर्भरवस्थायीपारिस्थितिकीतंत्रकेलिएकईउत्पादोंकाविकासकियाहै।

उन्होंनेकहाकिकोविड-19सेछात्रों,शिक्षकोंवकर्मचारियोंकीरक्षाकेलिएआइआइटीमंडीनेसुरक्षाकेत्वरितवप्रभावशालीउपायकिए।शिक्षाकीनिरंतरताबनाएरखनेकेलिएसंस्थाननेइंटरनेटकेमाध्यमसे15विशेषकक्षाओंकीव्यवस्थाकी।संस्थानकेडीन(शिक्षा)प्रदीपपरमेश्वरननेकहाकिमार्च2020मेंलॉकडाउनलागूहोतेहीसंस्थाननेशिक्षणकीऑनलाइनप्रणालीशुरूकी।संस्थानकीशिक्षाकीनियमितगतिविधियांऑनलाइनप्रणालीमेंजारीहैं।

प्रमुखशोधएवंनएअनुसंधान

कोविड-19मेंडिजार्डर्डप्रोटीनोंकातुलनात्मकशोध

स्कूलऑफबेसिकसाइंसेजकेसहायकप्रोफेसरडा.रजनीशगिरीनेअपनीशोधटीमकेसाथकम्प्यूटेशनलटूलकीमददसेवायरलप्रोटियमकेमहत्वपूर्णहिस्सेइंट्रिसिकलीडि•ाॉर्डर्डप्रोटीनरीजंस(आइडीपीआर)कोसमझनेकाप्रयासकिया।

कोविड-19केफैलावपरसोशलनेटवर्कसेनजररखनेपरकेंद्रितशोध

स्कूलऑफबेसिकसाइंसेजकीसहायकप्रोफेसरडा.सरिताआजादनेकोविड-19केफैलावऔरइसकेविश्वस्तरसेराष्ट्रीयस्तरतकआनेकेरास्तेकापतालगाया।भारतमेंबीमारीकेफैलावकेलिएजिम्मेदारसुपरस्प्रेडरोंकीपहचानकी।

नेरचौकमेडिकलकॉलेजकेसाथकरार

संस्थाननेलालबहादुरशास्त्रीसरकारीचिकित्सामहाविद्यालयएवंअस्पतालसेसहमतिकरारपरहस्ताक्षरकिए।रियलटाइमपॉलिमरेजचेनरिएक्शन(पीसीआर)प्रयोगशालाबनानेमेंसहयोगदिया,ताकिइसक्षेत्रमेंकोरोनावायरसकेनिदानमेंतेजीआए।इसप्रयोगशालानेकोविड-19कापतालगानेकेलिएपरीक्षणप्रक्रियातेजकरप्रतिदिन1000सैंपलतककेविश्लेषणकीक्षमताप्रदानकरप्राधिकरणोंकीमददकी।

आर्मीकैंटीनकेलिएवेबसाइटकाविकास

स्कूलऑफकंप्यूटिगएंडइलेक्ट्रिकलइंजीनियरिगकेएसोसियटप्रोफेसरडा.वरुणदत्तनेअपनेबीटेकविद्यार्थियोंकेसाथआर्मीकैंटीनआनेवालेसैन्यकर्मियोंवउनकेपरिवारकेसदस्योंकेलिएएकवेबसाइटकाविकासकिया।इसकेजरिएकैंटीनमेंउपस्थितिदर्जकरनेवालोंकोशारीरिकदूरीबनाएरखनेमेंमददमिलेगी।

बेकारपीईटीबोतलोंसेअधिकसक्षमफेसमास्ककाविकास

स्कूलऑफइंजीनियरिगकेसहायकप्रोफेसरडा.सुमितसिन्हारेनेशोधार्थियोंकेसाथएकस्वदेशीतकनीककाविकासकिया,जिसकीमददसेबेकारपीईटी(पॉलीइथीलीनटैरेप्थेलेट)यानीप्लास्टिककीखालीबोतलोंसेअधिकसक्षमफेसमास्कबनेंगे।

वाईफाईसेचलनेवालावेंटीलेटर

स्कूलऑफइंजीनियरिगकेडॉ.एसोसिएटप्रोफेसरअपरानगुप्तानेशोधोर्थियोंकेसाथकेवल4000रुपयेकीलागतवालास्मार्टवेंटीलेटरविकसितकिया।यहप्रोटोटाइपएकमैकेनाइज्डआर्टिफिशियलमैनुअलब्रीदिगयूनिट(एएमबीयू)बैगहै।इसमेंसांसकीदरवमरीजकेफेफड़ोंमेंपहुंचतीहवाकीमात्रानियंत्रितकरनेकेविकल्पहैं।

यूवीसीडिसइंफेक्शनबॉक्स

स्कूलऑफइंजीनियरिगकेसहायकप्रोफेसरडा.हिमांशुपाठकवडा.सनीजफरने35,000कीलागतवालाएकअल्ट्रावायलेटसी(यूवीसी)पोर्टेबलडिसइंफेक्शनबॉक्सविकसितकियाहै।यहप्रकाशआधारितहै।