कोरोनावायरस जांच कम कर आंकड़े दुरुस्त करने में जुटी है सरकार : प्रवेश वर्मा

जागरणसंवाददाता,नईदिल्ली।सातवर्षोंमें47हजारकरोड़रुपयेसेज्यादास्वास्थ्यकेमदमेंखर्चहोनेकेबादभीनएअस्पतालोंकानिर्माणनहींकरनेकाआरोपलगातेहुएपिछलेदिनोंदिल्लीसरकारकोकठघरेमेंखड़ाकरनेवालेपश्चिमीदिल्लीकेसांसदप्रवेशवर्मानेएकफिरसूबेकीसरकारपरजमकरनिशानासाधाहै।पिछलेकुछदिनोंसेकोरोनाजांचकीकमहोरहीसंख्यापरसरकारकोआड़ेहाथोंलेतेहुएसांसदनेकहाकिआंकड़ोंकोदुरुस्तकरनेकेलिएलोगोंकीजानकेसाथखिलवाड़कियाजारहाहै।

पहलेकेमुकाबलेकोरोनाजांचकीसंख्याबेहदकमकरदीगईहै।ऐसेमेंनतोकोरोनासंक्रमितोंकीपहचानहोपायेगीऔरनहीउनकासमयसेईलाजहोगा।उन्होंनेकहाकिहालातमेंपहलेकेमुकाबलेज्यादाबदलावनहींआयाहै।लोगपरेशानहैं।शहरोंमेंनतोलोगोंकोईलाजमिलरहाहैऔरनहीग्रामीणइलाकोंमेंकोरोनाजांचहोरहीहै।अगरअभीभीकोरोनाजांचकीसंख्यानहींबढ़ाईगईतोआनेवालेदिनोंमेंइसकेगंभीरपरिणामभुगतनेपड़सकतेहैं।

प्रवेशवर्मानेकहाकिदिल्लीसरकारअपनीनाकामीछिपानेकेलिएकोरोनाकेकममामलेकीनीतिलेकरआईहै,लेकिनयहनीतिलोगोंकीजानकोआफतमेंडालरहीहै।अगरदिल्लीसरकारईमानदारीवगंभीरतासेकंटेनमेंटजोनकेप्रत्येकघरमेंजाकरटेस्टिंग,ट्रेसिंगवट्रैकिंगपरअमलकरतीतोशायदहालातइतनेबुरेनहींहोते।

इसमहासंकटकेबीचसरकारआंकड़ोंकाखेलबंदकरेऔरज्यादासेज्यादाजांचपरध्यानदे।उन्होंनेकहाकिशहरीइलाकोंकेसाथ-साथदिल्लीदेहातपरभीध्यानदेनेकीजरूरतहै।गांवोंमेंमामलेबढ़रहेहैं।ऐसेमेंस्वास्थ्यसुविधाओंकेसाथहीबड़ेस्तरपरकोरोनाजांचसमयकीमांगहै।