कोविड जांच किट उत्पादन से घटी जांच की कीमत

नईदिल्ली,15अक्टूबर।जैसेहीभारतमेंकोरोनामहामारीकीपहलीलहरशुरूहुईसांचीजावाऔरउनके59वर्षीयपिताहरीशजावानेमहसूसकियाकिउनमेंकोविड-19संक्रमणकेलक्षणहैं.उन्होंनेबिनादेरकिएखुदकोअलग-थलगकरलियाऔरजांचकरानेकाफैसलाकिया.लेकिन2020केवसंतकेदौरानयहकोईआसानकामनहींथा.

दिल्लीकेकईनिजीलैबकोबाप-बेटीकोकईफोनकरनेपड़ेआरटी-पीसीआरजांचकरानेकेलिएजोकिउच्चमानककेहोतेहैं.उससमयमेंहाईस्टैंडर्डजांचकीकीमतकरीब70डॉलरया5हजाररुपयेथी.29सालकीसांचीडिजिटलमार्किंटिंगकाकामकरतीहैं,तोउनकेपिताएकसफलकारोबारीहैं.लेकिनअधिकांशभारतीयोंकेलिएइसतरहकीजांचपहुंचसेबाहरथी.

सांचीकहतीहैं,''यह(आरटी-पीसीआरजांच)आमइंसानकेलिएसुलभहोनाचाहिएऔरयहकरानेकेलिएहरकिसीकोसक्षमहोनाचाहिए.''

एकसालबादअधिकतरभारतीयपीसीआरजांचकमकीमतमेंकरासकतेहैं.ऐसाबड़ेपैमानेपरसार्वजनिक-निजीभागीदारीकेकारणसंभवहोपायाहै.InDxनामकीकंपनीनेभारतमेंहीबुनियादीढांचेकोस्थापितकियाहै.कंपनीभारतमेंऐसीकिटकानिर्माणकररहीहै.

भारतनेफरवरी2020मेंकोविड-19परीक्षणकरनेमेंसक्षम14प्रयोगशालाओंकोअगलेछहमहीनोंमें1,500सेअधिककरदिया.देशमेंअबलगभग3,000ऐसीप्रयोगशालाएंहैं.

आरटी-पीसीआरपरीक्षणोंकीकीमतपांचसौकेकरीबआचुकीहै.एकसमयमेंदेशकेकुछहिस्सोंमेंयहदसगुनाअधिकथी.

भारतकीकोविड-19परीक्षणक्षमतामेंवृद्धिसेदेशअबतक58करोड़जांचकरपायाहै.देशमेंदैनिकउपयोगकीजानेवाली80प्रतिशतपरीक्षणकिटअबपूरीतरहसेभारतमेंनिर्मितहै.