करहना में दिखाई नहीं देती हैं विकास योजनाएं

संवादसूत्र,बरसाना(मथुरा):रासाचार्यवरामजन्मभूमिन्यासकेअध्यक्षमहंतनृत्यगोपालदासकीजन्मभूमिकरहलागांवमेंभलेहीजनप्रतिनिधिविकासकादावाकरतेहों,लेकिनजमीनीहकीकतकुछऔरहीकहानीबयांकररहीहै।बरसातहोनेपरगांवकीसड़कदलदलबनजातीहै।ग्रामीणनारकीयजीवनजीनेकोमजबूरहैं।गांवमेंजगह-जगहगंदगीकाअंबारहै।गांवमेंदोप्राचीनमंदिरहैं,इसकेबादभीगांवमेंविकासकार्यनहींहुएहैं।

गांवकेमुख्यमार्गकीस्थितिखराबहै।इसमार्गपरग्रामीणपैदलभीनहींनिकलपातेहैं।बरसातहोनेपरगांवमेंजलभरावकीस्थितिबनजातीहै।मंदिरमार्गवस्कूलमार्गोपरकूड़ेकेढेरलगेहैं।नालियोंकीसफाईनहोनेसेगंदगीरहतीहै।गांवमेंपेयजलतककीव्यवस्थानहींहैं।ग्रामीणोंकोपानीखरीदकरपीनापड़रहाहै।पांचसालमेंगांवकेविकासपर15लाखरुपयेखर्चकिएथे।स्कूलकासुंदरीकरणवइंटरलाकिगमार्गकानिर्माणकरायागया।ग्रामीणसड़ककिनारेग्रामीणनालीनहींबननेदेतेहैं,इसलिएजलभराववकीचड़कीसमस्यारहतीहै।

गुपाल-पूर्वप्रधानकरहलाकरहलागांवकेविकासकाब्लूप्रिटतैयारकियागयाहै।पंचायतनिधिकेअलावासांसदवविधायकनिधिसेभीगांवमेंविकासकार्यकरायाजाएगा।पानीकीव्यवस्थाकेलिएडीएमसेमुलाकातकरेंगे।अधूरेकार्यपूरेकराएजाएंगे।

सुरेशचंद्रशर्मा-प्रधानप्रतिनिधिपानीभीखरीदकरपीनापड़रहाहै।चुनावकेदौरानसभीजनप्रतिनिधिविकासकादावाकरतेहैं।आजतकसांसदनिधिसेगांवमेंकोईविकासकार्यनहींहुआहै।

अजयसिंह-ग्रामीणकरहलागांवकेविकासपरजनप्रतिनिधियोंकाध्याननहींहै।चुनावकेदौरानसिर्फविकासकरानेकादावाहोताहै,जबकिपांचसालकोईविकासकार्यनहींहोताहै।सिर्फकागजोंमेंकरहलागांवकाविकासहोजाताहै।

ओमवीरसिंह-ग्रामीणश्रीरामजन्मभूमिन्यासकेअध्यक्षमहंतनृत्यगोपालदासकीजन्मभूमिहोनेकेबावजूदआजतककोईविकासकार्यनहींहुआ।इसकारणग्रामीणनारकीयजीवनजीनेकोमजबूरहैं।

सूरजपाल-ग्रामीणकरहलागांवकाधार्मिकमहत्वभीहै,लेकिनशासन-प्रशासनकेउपेक्षाकेचलतेगांवविकाससेकोसोंदूरहै।आएदिनगांवमेंश्रद्धालुओंकाआवागमनलगारहताहै।

डा.हरसरन-ग्रामीण