कुड़ियाकोठी में बच्चे और बुजुर्ग बनेंगे बरगद का पेड़

बेतिया।19जनवरीकोमानवश्रृंखलाकेकार्यक्रममेंबेतिया-चनपटियामार्गमेंकुड़ियाकोठीइतिहासबनाएगा।यहांबच्चेवबुजुर्गजलजीवनहरियालीकोबचानेकेलिएसांकेतिकरूपमेंबरगदकापेड़बनकरलोगोंकोजागरूककरेंगे।राज्यसाधनसेवीमेरीएडलीननेबतायाकिरविवारकोजिलेमें669किलोमीटरकीमानवश्रृंखलाबनानेकालक्ष्यहै।इसेसफलऔरआकर्षकबनानेकेलिएविभिन्नप्रकारकेनवाचार,गतिविधियोंकाआयोजनकियाजारहाहै।इसीपरिपेक्ष्यमेंऐतिहासिकस्थलकुड़ियाकोठीमेंमानवबलसेभव्यऔरआकर्षकबरगदकापेड़कानिर्माणकियाजाएगा।उन्होंनेबतायाकिउनकेभाईरेजीनोल्डअमरसिंहकेनेतृत्वमेंकुड़ियाकोठीमैदानमेंमद्यनिषेधकेसमर्थनमेंवर्ष2017मेंछात्र-छात्राओंकीओरसेमानवश्रृंखलाबनाकरबिहारकाविशालनक्शाबनायाथा।वहींवर्ष2018मेंबालविवाहएवंदहेजप्रथाउन्मूलनकेसमर्थनमेंइसीमैदानमेंमानवबलसेपटनाकेगोलघरबनायागयाथा।साथहीकईआकर्षकझांकियांभीतैयारकीगईथी।इसबारकीमानवश्रृंखलामेंसंतआग्नेसउच्चबालिकाविद्यालयचुहड़ी,लोयोलास्कूल,संतलौरेंसस्कूल,माउंटकारमेलअकादमीचुहड़ी,राजकीयप्लसटूउच्चविद्यालयकुमारबाग,नवोदयविद्यालयवृंदावन,माउंटफोर्टविद्यालयके2000सेज्यादाछात्र-छात्रऔरशिक्षकशामिलहोंगे।कार्यक्रमकानेतृत्वचनपटियाबीडीओदीनबंधुदिवाकरकरेंगे।