लोकोत्सव कार्यक्रम कई राज्यों की दिखी लोक संस्कृति

मोतिहारी।राष्ट्रपितामहात्मागांधीकी150वींजयंतीकेअवसरपरघोड़ासहनस्थितज्ञानज्योतिविद्यालयपरिसरमेंशनिवारकीशामउत्तरमध्यक्षेत्रसांस्कृतिककेंद्र,इलाहाबाद(संस्कृतिमंत्रालय,भारतसरकार)वजिलाप्रशासनमोतिहारीकेतत्वावधानमेंलोकोत्सवकार्यक्रमकाआयोजनकियागया।देशकेकरीबआधादर्जनराज्योंसेआएकलाकारोंद्वारापेशकिएगएमनभावनलोकगीतोंवलोकनृत्यपरदर्शकझूमनेकोविवशहोगए।कार्यक्रमकाउद्घाटनविद्यालयकेनिदेशकप्रेमचंदप्रसाद,बीडीओअशोककुमारवसंस्कृतिमंत्रालयकेप्रतिनिधियोंनेसंयुक्तरूपसेकिया।कार्यक्रमकाआरंभविद्यालयकेछात्राओंद्वारापेशकिएगएस्वागतगानसेहुआ।वंदेमातरमवसाबरमतीकेसंतजैसेगीतोंपरभावनृत्यपेशकरबच्चोंनेखूबतालियांबटोरी।इसकेउपरांतउत्तर-पूर्वअसमकेज्वायदेवडेकाकीटीमद्वाराबिहूवबरदोईश्रृंखलानृत्य,राजस्थानकेरूप¨सहकीटीमद्वाराचकरी,चरीवघूमरनृत्यकेबादउत्तरप्रदेशकेअभयराजयादवनेबिरहाकीसफलप्रस्तुतिदेलोगोंकोझूमनेंकोविवशकरदिया।झारखंडसेआएसुष्तिधरमहतोकीटीमद्वाराप्रस्तुतपुरूलियाछऊनृत्यपरलोगअपनेकोनहींरोकसके।महिषासुरमर्दिनीनृत्य-नाटिकाकीछापदर्शकोंकेजेहनमेंसमागई।कार्यक्रमकेअंतमेंगणमान्यअतिथियोंकोविद्यालयकीओरसेसम्मानितकरनेकेबादनिदेशकश्रीप्रसादनेऐसेसफलआयोजनमेंसहयोगकेलिएदर्शकोंवअभिभावकोंकोधन्यवाददेतेहुएभविष्यमेंऐसेआयोजनपुन:करानेकोकहा।मंचकासंचालनअभयअनंतनेकिया।