मंदिर, मस्जिद विवाद राष्ट्रीय विकास व आपसी भाईचारे के लिए चिता का विषय: प्रो. लाल

संस,अमृतसर:पूर्वडिप्टीस्पीकरप्रो.दरबारीलालनेकुछदिनोंसेवाराणसी,मथुराऔरदिल्लीमेंमंदिर,मस्जिदविवादपरप्रतिक्रियाव्यक्तकरतेकहाकियहविवादकिसीभीकीमतपरराष्ट्रकेहितमेंनहींहै,बल्किआर्थिकविकास,सामाजिकसौहार्द,राजनीतिकएकताऔरसांस्कृतिकसहयोगकेलिएखतराबनताजारहाहै।इसेहरमूल्यपरबंदकरनाचाहिएऔरइसकाराजनीतिककरणकरनेकेबजायशांतिपूर्णमसलोंकाहलनिकालनेमेंहीराष्ट्रकाहितहै।विश्वकेदेशआर्थिकविकासकेलिएदिन-रातकोशिशकरकेअपनेनागरिकोंकोहरतरहकीसुविधाएंमुहैयाकररहेहैं।जबकिभारतमेंपिछलेकुछवर्षोंसेधार्मिकविवादहीमुख्यविषयबनाहुआहै।

प्रो.लालनेप्रधानमंत्रीनरेन्द्रमोदीकोविस्तारपूर्वकपत्रलिखकरमांगकीहैकिइनमसलोंकेहलकेलिएएकराष्ट्रीयआयोगगठितकियाजाएऔरजिसमेंदोनोंसमुदायकेप्रतिनिधियोंकोलियाजाए।ताकिवहआपसमेंमिलबैठकरइनविवादोंकाहलनिकालसकेऔरमंदिर,मस्जिदविवादसेसदाकेलिएनिजातहासिलकीजासके।ताकिराष्ट्रआर्थिकविकासकेपथपरआगेबढ़तारहे।