न अपना भवन और न ही शिक्षक, नाम है मॉडल विद्यालय

निर्मलसिंह,गुमला:केंद्रीयविद्यालयकेतर्जपरग्रामीणक्षेत्रकेविद्यार्थियोंकोबेहतरशिक्षाव्यवस्थादेनेकेउद्देश्यसेआरंभमॉडलविद्यालयकीस्थितिगुमलामेंअच्छीनहींहै।गुमलाजिलामेंकुलआठमॉडलविद्यालयचलरहेहैं।भरनोकोछोड़देंतोअन्यसातविद्यालयकाअबतकअपनाभवननहींहै।तीनमॉडलविद्यालयमेंतोशिक्षकभीनहींहै।मॉडलविद्यालयकाशुभारंभनवंबर2012मेंहुआथा।इसकाउद्देश्यग्रामीणक्षेत्रकेविद्यार्थियोंकोकेन्द्रीयविद्यालयकीतर्जपरअंग्रेजीमाध्यमसेशिक्षाप्रदानकरनाथा।स्थितियहहैकिभरनोछोड़करमॉडलविद्यालयकानतोअपनाकहींभवनहैऔरनहीपर्याप्तशिक्षक।यहांतककीमानककेअनुरूपकक्षामेंस्कूलीबच्चेभीनहींहैं।

छठीकक्षाकेलिएहोताहैप्रवेशपरीक्षा

मॉडलविद्यालयमेंनामांकनकेलिएप्रवेशपरीक्षालियाजाताहै।यहांसिर्फछठीकक्षामेंनामांकनलियाजाताहै।ऊपरकीकक्षाओंमेंनामांकननहींलियाजाताहै।प्रत्येककक्षामें40-40बच्चोंकीसीटनिर्धारितहैलेकिनकोईभीकक्षामेंबच्चोंकीसंख्यापूर्णनहींहै।यहांतककीकक्षाछहमेंनामांकनलियाजाताहैलेकिनइसकक्षामेंभीबच्चोंकीसंख्यापूर्णनहींहोताहै।इसकाकारणअधिकारियोंकीउदासीनताऔरशिक्षकोंकीकमीकाहोनाहै।गुमलामॉडलविद्यालयमेंकक्षाछहमें25,कक्षासातमें26,कक्षाआठमें29,कक्षानौमें25औरकक्षादसमें20बच्चेअध्यनरतहैं।कमोबेशअन्यविद्यालयोंमेंभीबच्चोंकीसंख्यायहीहै।

शिक्षकविहीनहैपालकोट,रायडीहवघाघराकामॉडलविद्यालय

प्रथमवर्ष120रुपयेप्रतिघंटीकेदरसेचार-चारशिक्षकोंकीबहालीकीगईथी।प्रत्येकवर्षकक्षाएंबढ़तीगयी।कक्षाकेसाथ-साथछात्रसंख्याएंभीबढ़तेगए।लेकिनशिक्षकोंकीसंख्याघटतीगईं।विभागीयनिर्देशकेअनुसारप्लसटूतककक्षासंचालितकरनाहैलेकिनशिक्षकोंकीकमीकेकारणदसवींतककक्षाएंसंचालितहोरहीहै।पालकोट,रायडीह,घाघराकेमॉडलविद्यालयमेंएकभीशिक्षकनहींहैं।बसिया,भरनोऔरकामडारामेंएक-एक,गुमलाऔरबिशुनपुरमेंदो-दोशिक्षकहैं।सबसेबड़ीसमस्याशिक्षकोंकीहै।छात्रकेअनुपातशिक्षकोंकीकमीहै।लगभगसभीविद्यालयवैकिल्पकव्यवस्थामेंसंचालितहोरहाहै।

मॉडलविद्यालयकीस्थापनालगभगसातवर्षहोगएलेकिनअबतकसिर्फभरनोमॉडलविद्यालयकाअपनाभवनहै।अन्यसातमॉडलविद्यालयोंकासंचालनअन्यविद्यालयोंमेंसंचालितहोरहाहै।गुमलामॉडलविद्यालयकाकक्षाजिलास्कूलकेभवनमेंचलरहाहै।इसीतरहअन्यमॉडलस्कूलभीअन्यविद्यालयोंमेंवैकल्पिकव्यवस्थापरकक्षासंचालितहोरहाहै।

सभीकक्षामेंनामांकनकीहोसुविधा

गुमलामॉडलविद्यालयकेशिक्षकसंजयकुमारप्रजापतिकाकहनाहैकिविद्यालयकाकांसेफ्टबहुतहीअच्छाहै।इसकाअपनाभवनहोनाचाहिए।स्थायीशिक्षककीनियुक्तिहोनीचाहिए।सिर्फछठीकक्षामेंनहींबल्किरिक्तस्थानकेलिएसभीकक्षाओंमेंनामांकनकीसुविधाहोनीचाहिए।

गुमलामेंआठमॉडलविद्यालयचलरहेहैं।सभीविद्यालयोंमेंशिक्षकोंकीवैकल्पिकव्यवस्थाकीगईहै।कक्षाएंचलरहीहै।विद्यालयकीजोस्थितिहैउसकीजानकारीविभागकोदीगईहै।विभागसेप्राप्तमार्गदर्शनकेअनुसारहीविद्यालयकासंचालनकियाजाताहै।

सुरेन्द्रपांडेय,जिलाशिक्षापदाधिकारीगुमला।