Nawada: जहरीली शराब नहीं तो फिर चार दिनों में कैसे हुई 14 लोगों की मौत, उठ रहे हैं कई सवाल

नवादा,जागरणसंवाददाता।चारदिनोंमें14लोगोंकीमौत।स्‍वजनकादावा-शराबपीनेसेगईजान।प्रशासनकाइन्‍कार।मौतकासिलसिलाशुरूहोनेकेसाथजहरीलीशराबसेमौतकीबातसामनेआनेलगी।हालांकिप्रशासनशुरूसेहीइसेनकारतारहा।लेकिनसवालउठनाहैकिएकसाथइतनीसंख्‍यामेंमौतकीवजहआखिरक्‍याहै।इधरडीएमऔरएसपीनेप्रेसकॉन्‍फ्रेंसकरदसकीमौतकीपुष्टिकीहै।हालांकिशराबसेमौतपरकुछभीस्‍पष्‍टनहींकहागया।

क्‍याहैमौतकाकारण,जाननेकोबेचैनहैंलोग

मालूमहोकिएक-एककरचौदहलोगोंकीमौतसेकईसवालउठरहेहैं।परिवारकेलोगोंऔरग्रामीणोंकाकहनाहैजहरीलीशराबसेमौतहुईहै।लोगोंकाकहनाहैकिक्षेत्रमेंखुलेआमशराबकाधंधाचलताहै।यहसबपुलिसकीमिलीभगतसेहोताहै।लेकिनचारदिनोंबादभीप्रशासनकाइसदिशामेंकोईप्रभावीकदमनहींउठानाकईसवालखड़ेकरताहै।लोगयहजाननाचाहरहेहैंकिआखिरप्रशासनकीदलीलेंक्‍याहैं,मौतक्‍योंहुईहैं।क्‍यासभीबीमारीसेहीमरगए।एकमृतककेप्र‍िसकिप्‍शनपरडॉक्‍टरनेअल्‍कोहलसेवनकीबातलिखी।लेकिनउसकेशवकोपोस्‍टमार्टमकेलिएपुलिसकेहवालेकरनेकीजगहपरिवारवालोंकोलेजानेदिया।हालांकिबादमेंपुलिसनेतत्‍परतादिखाई।उसकेघरपहुंचकरशवकोअपनेकब्‍जेमेंलेकरपोस्‍टमार्टमकेलिएभेजा।

गौरतलबहैकिशराबबंदीकेबावजूदझारखंडसेसटेजिलोंमेंशराबकाउपभोगकमनहींहोरहा।पीनेऔरबेचनेवालेपुलिसकीतमामसक्रियताकेबावजूदइसधंधेमेंलगेरहतेहैं।हाेलीकेसमयमेंतोप्राय:बिहारकेहरजिलेमेंशराबकीबरामदगीहोतीरही।धंधेबाजपकड़ेजातेरहे।लेकिनइसकेबावजूदइसतरहकीघटनाकईसवालखड़ेकरतीहै।