नीतीश के हत्यारे विकास को मौज कराने वाले सिपाही निलंबित

उल्लेखनीयहैकिनितीशकटाराकीमांनीलमकटारानेबीतेशुक्रवारकोहाईकोर्टकोबतायाथाबीतेसालइलाजकेदौरानदीपावलीकीरातविकाससाढ़ेआठबजेएम्ससेबाहरचलागयाथा।न्यायमूर्तिगीतामित्तलवन्यायमूर्तिवीकेशालीकीखंडपीठकेसमक्षदिल्लीसरकारकेअधिवक्तानेबतायाकिएम्समेंइलाजकेलिएभर्तीविकासकेअस्पतालसेगायबहोनेकामामलासामनेआनेपरकड़ीकार्रवाईकीगईहै।एम्सकेरिकार्डसेपताचलाहैकिविकासपूरीरातएम्ससेगायबथा।जाहिरहैपैसेकीबदौलतवहरातभरअपनीमर्जीकामालिकबनगयाथा।वहकहांगयाथा,यहकिसीकोपतानहीं।एम्सकेअधिकारीभीचुपहैं।

अस्पतालमेंविकासकीसुरक्षामेंतैनातऔरउसकेसाथजानेवालेदोकांस्टेबलकोनिलंबितकरकेजांचकीजारहीहै।वहीं,याचीनीलमकटाराकेअधिवक्तानेअदालतकेसमक्षआरोपलगायाकिविशालबीमारीकेनामपरबत्राअस्पतालमें524दिनभर्तीरहाजिसमेंसे358दिनतोबिलकाभुगताननकरनेकेकारणरहा।वहीं,105दिनसुबहगयाऔरशामकोवापसआया।इससेस्पष्टहैकिपैसेकेबलपरहीउसनेजेलकीअपेक्षाअस्पतालमेंकमरेमेंज्यादादिनबिताए।इतनाहीनहींउसकाइसदौरान55हजाररुपयेकाफोनबिलभीआया।स्पष्टहैकिवहनियमोंकाउल्लंघनकरघरऔरअन्यकोफोनकरतारहाथा।वहींसरकारीवकीलनेबतायाकिदोनोंपरअस्पतालआने-जानेकेदौरानसुरक्षाव्यवस्थाकरनेकी20लाखरुपयेसेभीज्यादाराशिबकायाहै।पहलेयहराशि30लाखथीजिसेघटाकरकमकियागया।इसकेबावजूदवेराशिकाभुगताननहींकररहे।