नृत्य व गीतों में दिखी जौनसारी-गढ़वाली संस्कृति की झलक

जागरणसंवाददाता,विकासनगर:मुंडाजनजातिकेभगवानकहेजानेवालेबिरसामुंडाकेजन्मोत्सवकोजनजातीयगौरवदिवसकेरूपमेंमनायाजारहाहै।इसीक्रममेंजनजातीयगौरवदिवसपरपछवादूनकेएकलव्यआदर्शआवासीयविद्यालयकालसीमेंबच्चोंनेसांस्कृतिकप्रस्तुतियोंसेसमाबांधा।नृत्यवगीतोंमेंजौनसारी,गढ़वालीवनेपालीजनजातीयसंस्कृतिकीझलकदेखनेकोमिली।

जनजातीयगौरवदिवसकेरूपमेंजनजातीयसंस्थानोंमेंतीनदिनतकआयोजनचले।अंतिमदिनशनिवारकोएकलव्यविद्यालयकालसीमेंअंतरविद्यालयीयजनजातीयसांस्कृतिकनृत्यवगीतोंकाप्रस्तुतिकरणविद्यालयपरिसरमेंकियागया।जिसमेंएकलव्यविद्यालयकालसीकेअतिरिक्तअटलउत्कृष्टराइंकाकालसी,आश्रमपद्धतिविद्यालयहरिपुर,राजकीयबालिकाइंटरकालेजहरिपुर,रेनबोचिल्ड्रनएकाडमीबाड़वालाकेविद्यार्थियोंनेसांस्कृतिकप्रस्तुतिपेशकी।

सांस्कृतिककार्यक्रमकेमुख्यअतिथिनिदेशकजनजातिकल्याणविभागउत्तराखंडसंजयटोलियावविशिष्टअतिथिखंडशिक्षाअधिकारीकालसीपूजानेगीदानूनेबच्चोंकाउत्साहबढ़ाया।विद्यालयकेप्राचार्यडा.जीसीबडोनीनेअतिथियोंकोस्मृतिचिह्नवपुष्पगुच्छदेकरस्वागतकिया।प्राचार्यनेबिरसामुंडाकेजीवनसंघर्षवउनकेव्यक्तित्वकेबारेमेंजानकारीदी।जिसकेबादसांस्कृतिककार्यक्रमनृत्यवगीतोंकीप्रस्तुतिनेसमांबांधा।जिसमेंजौनसारी,गढ़वालीवनेपालीजनजातीयसंस्कृतिकीसम्मिलितझलकदर्शकोंकोदेखनेकोमिली।राजकीयबालिकाइंटरकालेजहरिपुरकीदोबालिकाओंनेढोल-दमाऊ,एकलव्यविद्यालयकेसंगीतशिक्षकसरजुकुमारनेबांसुरीवादनकीप्रस्तुतिसेश्रोताओंकोमंत्रमुग्धकिया।

कार्यक्रमकेमंचसंचालकसुनीलसिंहसजवाणनेचित्रकलावसामान्यज्ञानप्रतियोगिताकापरिणामघोषितकिया।

येरहाप्रतियोगिताकापरिणाम

चित्रकलाकलाकनिष्ठववरिष्ठवर्गमेंप्रथमस्थानप्रिसीचौहान,एकलव्यकालसीवअंशुलकश्यपरेनबोएकेडमीनेप्राप्तकिया।सामान्यज्ञानप्रतियोगितामेंभीएकलव्यविद्यालयकालसीकीटीमअव्वलरही।