नवोदय की तर्ज पर अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होंगे दो एकलव्य मॉडल विद्यालय

प्रमोदसिंह,सरायकेला

प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेझारखंडप्रवासकेदौरानरांचीसेएकलव्यमाडलविद्यालययोजनाकीलांचिंगकीथी।जिलेमेंजल्दहीदोनएएकलव्यमाडलविद्यालयखुलेंगे।केंद्रप्रायोजितयोजनाकेतहत15-15एकड़जमीनपरस्कूलखोलनेकीपहलजिलाप्रशासनकीओरसेशुरूकरदीगईहै।केंद्रीयआदिवासीमामलोंकेमंत्रीअर्जुनमुंडाकीपहलपरबनाएजानेवालेदोनोंविद्यालयोंमेंआदिमजनजातिसमेतअनुसूचितजातिवअनुसूचितजनजातिकेबच्चोंकोनामांकनवपढ़नेकीसुविधाउपलब्धहोगी।बच्चोंकोपहलीसे12वींतककीआवासीयशिक्षानि:शुल्कदीजाएगी।कुचाईप्रखंडकेगालूडीहवराजनगरप्रखंडकेखैरबनीगांवमेंएकलव्यमाडलविद्यालयकेनिर्माणकेलिए15-15एकड़जमीनजिलाप्रशासनकीओरसेहस्तांतरितकरदीगईहै।प्रत्येकविद्यालयमें480छात्रोंकानामांकनहोगा।विद्यालयमेंबच्चोंकेलिएआवास,भोजनवकिताबकेअलावासभीप्रकारकीआवश्यकसुविधाएंनि:शुल्कउपलब्धकराईजाएंगी।बच्चोंकेमनोरंजनकेलिएउनकीइच्छानुसारकमसेकमचारप्रकारकेखेलोंकीव्यवस्थाहोगी।तीनसालमेंबनकरतैयारहोगाविद्यालय

दोनोंस्थानोंपरआगामीतीनवर्षोमेंविद्यालयबनकरतैयारहोजाएगा।बतायाजारहाहैकिइसकानिर्माणदिल्लीकीएलएसटीकंपनीकेमाध्यमसेकरायाजाएगा।विद्यालयकेनिर्माणकार्यकेलिएफंडभीउपलब्धकरादियागयाहै।पूर्वमेंएकविद्यालयकेनिर्माणकीप्राक्कलितराशि17करोड़रुपयेनिर्धारितथी,जिसेवर्तमानमेंबढ़ाकर24करोड़करदियागयाहै।आदिमजनजातिकेविकासपरहोगाफोकस

विद्यालयकीस्थापनाकामुख्यउद्देश्यआदिमजनजातिकेबच्चोंकोगुणवत्तापूर्णउच्चशिक्षादेतेहुएमुख्यधाराकेसाथजोड़नाहै।साथहीअनुसूचितजातिवअनुसूचितजनजातिकेबच्चोंकोएकलव्यमाडलविद्यालयोंकेमाध्यमसेगुणवत्तापूर्णशिक्षादीजानीहै।जिसमेंस्कूलसमेतहास्टल,भोजनवकपड़ेकीसुविधानि:शुल्कउपलब्धकराईजाएगी।बच्चोंमेंरोजगारपरक,प्रतियोगितात्मकक्षमताकेविकासकेलिएविद्यालयमेंहीनि:शुल्कट्यूशनकीसुविधाउपलब्धकराईजाएगी।मिलेगीगुणवत्तापूर्णसुविधा

इसयोजनाकेतहतवैसेप्रखंडोंकाचयनकियागयाहै,जहांजनजातीयआबादी50फीसदीहैयाफिरउससेअधिक।साथही20हजारसेअधिककीआदिवासीजनसंख्यावालेप्रखंडोंकाचयनकियागयाहै।इन्हेंनवोदयविद्यालयसंगठनकीतर्जपरबनायाजाएगा।इनविद्यालयोंकेशुरूहोजानेकेबादजनजातीयबच्चोंकोगुणवत्तापूर्णशिक्षामिलेगी।

जिलेकेकुचाईप्रखंडअंतर्गतगालूडीहऔरराजनगरप्रखंडअंतर्गतखैरबनीगांवमेंएकलव्यमाडलविद्यालयबनाएजानेकीतैयारीकीजारहीहै।जमीनकाहस्तांतरणकरदियागयाहै।स्कूलतीनसालमेंबनकरतैयारहोजाएंगे।

-इकबालआलमअंसारी,उपायुक्त,सरायकेला-खरसावां।