पहले टी, फिर मनमोहक लंच, ये कैसी माया?

विशेषसंवाददातानईदिल्ली:प्रधानमंत्रीमनमोहनसिंहकेनिवासपरकांग्रेसअध्यक्षसोनियागांधीकेसाथउत्तरप्रदेशकीमुख्यमंत्रीमायावतीकालंच,नएराजनीतिकसमीकरणोंकेसंकेतदेगयाहै।समझाजाताहैकिलंचकेदौरानमायानेराष्ट्रपतिचुनावकेमुद्देपरअपनीकुछशर्तेंमनमोहनऔरसोनियाकेसामनेरखदीहैं।येशर्तेंक्याहैंइसबारेमेंफिलहालदोनोंहीदलमौनहैं।मायावतीनेप्रधानमंत्रीनिवाससेनिकलनेकेबादसंवाददाताओंसेकहाकिउनकीभेंटऔपचारिकथी।राज्यकेविकासकेलिएउन्होंनेप्रधानमंत्रीसेअपनीबातकहीऔरउन्हेंपूराकरनेकाआश्वासनप्रधानमंत्रीकीओरसेउन्हेंमिलाहै।राष्ट्रपतिचुनावकेमुद्देपरचर्चाकेसवालपरकोईजवाबनदेतेहुएउन्होंनेकहाकिअभीइसबारेमेंपत्तेखोलनेकासमयनहींआयाहै।मायावतीनेशुक्रवारकोदिल्लीआतेहीसबसेपहलेयहघोषणाकीकिकेंद्रमेंयूपीएसरकारकोबीएसपीकाबाहरसेसमर्थनमिलतारहेगा।लिहाजामायावतीनेसंकेतदेदियाकिबीएसपीकांग्रेससेकेंद्रमेंदोस्तीकरनेकोतैयारहैऔरअबकांग्रेसकोदिखानाहैकिवहबीएसपीयानीमायावतीकेलिएक्याकरसकतीहै।सोनियाकेआमंत्रणपरमायावतीकाशुक्रवारकोउनकेनिवासपरचायकेलिएजानाऔरफिरशनिवारकोमनमोहनकेसाथभेंटकेदौरानसोनियाकाभीप्रधानमंत्रीनिवासपरपहुंचना,जाहिरकरताहैकिराष्ट्रपतिचुनावकेमुद्देपरगंभीरबातचीतकासिलसिलाशुरूहोगयाहै।बीएसपीकी60हजारवोटेंमिलजाएंतोयूपीएमनचाहेउम्मीदवारकोराष्ट्रपतिबनासकताहै।यहीवजहहैकिकांग्रेसऐसेउम्मीदवारकोखड़ाकरनाचाहतीहै,जिसपरलेफ्टकेसाथमायावतीकीभीसहमतिहो।मायावतीनेबैठककेबादसंवाददाताओंसेकहाकिवहकेंद्रसेएकअच्छारिश्ताचाहतीहैं,ताकिराज्यकाविकासतेजीसेहोसके।उन्होंनेकहाकिपिछलीसरकारनेव्यक्तिगतऔरराजनीतिककारणोंसेकेंद्रसेटकरावलियाऔरउसीमेंउलझकररहगई।राज्यकाविकासठपहोगया।मायावतीनेप्रधानमंत्रीसेराज्यकीकुछप्रमुखपरेशानियोंकीचर्चाकरतेहुएखाद,बिजली,शहरीविकास,पर्यटनऔरअन्यढांचागतविकासकेलिएवित्तीयसहयोगदेनेऔरउसेअधिकसंतुलितबनानेकीमांगकी।उन्होंनेकहाकिराज्यपर15हजारकरोड़रुपयेकाजोऋणहै,उसपरसस्तीब्याजवसूलाजाए,ताकिविकासकेकामअवरुद्धनहों।