पीले सोने पर कोरोना की काला छाया

खगड़िया।कोरोनाकीकालीछायाफिरमक्कापरपड़चुकीहै।खगड़ियाजिलेमें50हजारहेक्टेयरमेंमक्काकीखेतीहोतीहै।उपजकीबातकरेंतोलगभगतीनलाख50हजारमीट्रिकटनपैदावारहोतीहै।सिर्फबेलदौरप्रखंडमें12हजारहेक्टेयरमेंखेतीकीजातीहै।उधारपरकिसानमक्काबेचनेकोविवशबीतेवर्षकोरोनाकेकारणलगेलॉकडाउनसेकिसानहजार-12सौरुपयेतैयारमक्काबेचनेकोविवशहुए।कोरोनामेंआईनरमीकेकारणइसवर्षकिसानोंनेसिर्फबेलदौरप्रखंडमें12हजारहेक्टेयरमेंमक्काकीखेतीकीहै।अबफसलकटनीशुरूहोगईहै।लेकिनकोरोनाकीदूसरीलहरउनकेअरमानोंपरपानीफेरदियाहै।बाहरीव्यवसायीनहींआएहैं।मक्काखरीदारनहींमिलरहेहैं।उधारभावपरकिसानहजार-12सौरुपयेक्विटलमक्काबेचनेकोविवशहैं।अन्नदाताओंकीसुनिए..पीरनगराकेअवधेशयादवकहतेहैं-हजार-12सौरुपयेप्रतिक्विटलमक्काखरीदारनहींमिलरहाहै।लगातारदूसरेवर्षभीलागतपूंजीडूबतीनजरआरहीहै।कोरोनानेपेटपरहमलाकियाहै।वेकहतेहैं-कोरोनानेकिसानोंकीकमरतोड़दीहै।सरकारीस्तरपरभीमक्काखरीदकीकोईव्यवस्थानहींहै।अभीतकजिलेमेंगेहूंकीखरीदारीभीशुरूनहींहुईहै।इतमादीकेकिसानइंदलसिंहनेबतायाएकहेक्टेयरमक्काकीखेतीमें25से30हजाररुपयेखर्चआतेहैं।एकहेक्टेयरमेंउपज65क्विटलतकहोतीहै।लेकिनकोरोनाकीदूसरीलहरकेकारणखरीदारहीनहींमिलपारहेहैं।जबकिवर्ष2019में22सौरुपयेप्रतिक्विटलमक्काबेचाथा।

बेलदौरप्रखंडकृषिपदाधिकारीओमप्रकाशयादवनेकहाकिसरकारीस्तरपरमक्काकीखरीदारीकोलेकरकोईगाइडलाइनप्राप्तनहींहै।