पक्षी विहार के लिए आर्द्रभूमि के स्थलों को चिन्ह्ति करने के निर्देश

पटना,28अगस्त(भाषा)बिहारकेउपमुख्यमंत्रीसहपर्यावरण,वनएवंजलवायुपरिवर्तनमंत्रीसुशीलकुमारमोदीनेशुक्रवारकोअधिकारियोंकोप्रदेशकेआर्द्रभूमिमेंवैसेस्थलोंकोचिन्ह्तिकरनेकानिर्देशदिया,जिन्हेंपक्षीविहारकेरूपमेंविकसितकियाजासके।वीडियोकॉन्फ्रेंसकेमाध्यमसेबिहारराज्यआर्द्रभूमिप्राधिकरणकीप्रथमबैठककीअध्यक्षताकरतेहुएसुशीलनेआर्द्रभूमिकेअभिलेखोंकोअद्यतनकियेजानेकानिर्देशदिया।उन्होंनेकहाकिप्रदेशकेपर्यावरण,वनएवंजलवायुपरिवर्तनविभागकेवेबपोर्टलपरराज्यआर्द्रभूमिप्राधिकरणकीवेबसाईटबनायीजायेजिसमेंआर्द्रभूमिसेसंबंधितसारीसूचनाएंडालीजाएं।सुशीलनेआर्द्रभूमि(संरक्षणएवंप्रबंधन)नियम2017केप्रावधानोंकेतहतचौरक्षेत्रकेविकासकरनेकानिर्देशदिया।उन्होंनेकहाकिआर्द्रभूमिमेंवैसेस्थलोंकोचिन्ह्तिकियाजाए,जिन्हेंपक्षीविहारकेरूपमेंविकसितकियाजासके।उपमुख्यमंत्रीनेकहाकिआर्द्रभूमिकासंक्षितदस्तावेजतैयारकरनेकेलिएएजेंसीएवंविशेषज्ञोंकासहयोगलियाजाए।उन्होंनेकहाकिकावरझीलमेंपानीकीउपलब्धताबनीरहेइसकेलिएअन्यविभागोंकेसाथसमन्वयकरप्रयासकियाजाए।साथहीसाथअन्यआर्द्रभूमियोंमेंभीपानीकीउपलब्धताबनीरहेइसकाध्यानरहे।बैठककेदौरानपर्यटनविभागकेप्रधानसचिवद्वाराबतायागयाकिवन्यप्राणीएवंपक्षियोंकीउपस्थितिवालेआर्द्रभूमियोंकोपर्यटनकेदृष्टिकोणसेमहत्वपूर्णमानतेहुएइसकाविकासकरनाअपेक्षितहै।पर्यावरण,वनएवंजलवायुपरिवर्तनविभागकेप्रधानसचिवदीपककुमारसिंहनेबतायाकिराष्ट्रीयवेटलैंडएटलसकेअनुसारराज्यमें2.25हेक्टेयरसेछोटेजलक्षेत्रोंकोछोड़करकुल4,416आर्द्रभूमिस्थलहैंजिनमें3,003प्राकृतिकझीलें,238नदियांएवंधाराएंतथा1,175मानवनिर्मितजलाशय,पोखर,तालाबहैं,जिनकाकुलक्षेत्रफल3,856वर्गकिलोमीटरहैऔरयहराज्यकेभौगोलिकक्षेत्रफलका4प्रतिशतहै।बैठकमेंग्रामीणविकासविभागकेअपरमुख्यसचिवसहविकासआयुक्तसी.पी.खण्डूजा,मनरेगाकेआयुक्त,जलसंसाधनविभागकेसचिव,पशुएवंमत्स्यसंसाधनविभागकेसचिवसहितकईविषयविशेषज्ञोंनेभागलिया।उपमुख्यमंत्रीनेबैठकमेंप्राप्तसभीसुझावोंकेआलोकमेंराज्यआर्द्रभूमिप्राधिकरणद्वारारखेगयेप्रस्तावकाअनुमोदनकरतेहुएनिर्देशितकियाकिसभीहितधारकोंकेसाथएकदिवसीयकार्यशालाकाआयोजनकरआर्द्रभूमिकेसमग्रविकासकेलिएविस्तृतचर्चाकीजाए।