पंजाब के वन स्टाप सखी सेंटर पर आईं घरेलू कलह की 2400 से अधिक शिकायतें, कई का समाधान भी

कोरोनाकीदूसरीलहरकेबादएकतरफजहांजिंदगीपटरीपरलौटरहीहैतोवहीं,घरेलूकलहमेंभीइजाफादेखाजारहाहै।पति-पत्नीकीलड़ाईमेंशराबबड़ीवजहबनरहीहै।सखीसेंटरकीरिपोर्टकेअनुसारबीते12महीनेमेंघरेलूझगड़ोंकी2400सेअधिकशिकायतेंआईहैं,जिनमें70%मामलोंयानी1680केसमेंशराबवजहहै।

जबकिकोरोनासेपहलेइसतरहकेमामले40से50%होतेथे।हालांकि,पतियोंकातर्कहैकिवेशराबशौकियानहीं,बल्किकोरोनाकालमेंनौकरीखोनेकेडरअथवाबिजनेसप्रभावितहोनेकीचिंताकेचलतेपीतेहैं।सखीसेंटरमेंजोशिकायतेंआईहैंउसमेंपत्नियोंकाकहनाहैकिपतिरातकोघरलेटआतेहैं,अगरकिसीबातकेबारेमेंपूछतोचिल्लाउठतेहैं,अगरगुस्सेकाकारणपूछोतोमारपीटपरउतारूहोजातेहैं।

केस-1शराबकेचलतेपत्नी-बच्चेछोड़े,केसकोर्टमें

सखीसेंटरमेंआएएकमामलेमें40वर्षीयमहिलानेअपनीशिकायतमेंबतायाकिउसकापति10सालसेशराबपीरहाहै।अक्सरवहदेररातघरलौटताथा।पूछनेपरगाली-गौलजभीकरताहै।हालांकिघरमेंकोईआर्थिकपरेशानीनहींथीलेकिनफिरभीपतिनेशराबकेचलतेउसेऔरदोबच्चोंकोअलगकरदिया।

जबफैसलाकाउंसलिंगकेबादभीनहींहोपाया,तोमामलाअबकोर्टमेंहै।पीड़ितमहिलानेबतायाकिमामलाइतनाबढ़गयाथाकिउसकेबच्चेखुदउससेकहनेलगेथेकिअबआपअलगहोजाइएनहींतोवेघरछोड़करचलेजाएंगे।

केस-2शराबीपतिसेतंगआकरपत्नीमायकेगई

सखीसेंटरमेंएकमामलाऐसाभीआया,जिसमेंपहलीबारएकबेटीनेअपनीमांकेखिलाफशिकायतदी।शिकायतमेंबेटीनेलिखाकिवहअपनेशराबीपतिसेतंगआकरअलगहोकरबच्चोंकेसाथमायकेमेंरहनीलगेथी।लेकिनमांउसेतानेदेनेलगीकिनतूअपनेपतिकीहुईनतूहमारीहुई।जिसकेबादपत्नीनेखुदपतिकेसाथरहनेकीइच्छाजाहिरकी।इसकेबादसेंटरमेंदोनोंकोबुलायागयाऔरकाउंसलिंगकीमददसेसमझौताकरवाकरघरभेजदियागया।

सीधीबात-राजवीरसिंह,स्टेटकोऑर्डिनेटर,वनस्टॉपसखीसेंटर

काउंसलिंगसे80फीसदीपरिवारटूटनेसेबचाए

पति-पत्नीकीलड़ाईकेकईमामलोंमेंमुख्यवजहशराबहीहै।13महीनेमें70फीसदीमामलेऐसेहीपाएगएहैं।80फीसदीमामलेपति-पत्नीकोसामनेबिठाकरकाउंसलिंगसेहलकरदियाजाताहै।20%मामलेहीकोर्टतकपहुंचतेहंै,क्योंकिनातोपतिऔरनाहीपत्नियांएकदूसरेकीबातसुननेकोतैयारहोतीहैं।’