प्रधानाध्यापक का वेतन रोकने के निर्देश

संवादसूत्र,बनबसा:उपजिलाधिकारीअनिलकुमारचन्यालनेगुरुवारकोप्राइमरीस्कूलवैलबंदगोठकाऔचकनिरीक्षणकिया।इसदौरानउन्हेंवहांअनुशासनसहितकईखामियांमिलीं।शिक्षाकास्तरइतनागिराहुआथाकिकक्षातीनमेंपढ़नेवालेबच्चोंकोअपनानामतकलिखनानहींआरहाथा।इसपरएसडीएमनेकड़ीआपत्तिजताईहै।प्रधानाध्यापककोजिम्मेदारठहरातेहुएउनकावेतनरोकनेकेनिर्देशदिएहैं।

विद्यालयमेंशिक्षाकीगुणवत्ताकोलेकरक्षेत्रकेलोगप्रशासनसेशिकायतकरतेआरहेथे।उनकीशिकायतकोगंभीरतासेलेतेहुएएसडीएमअचानकविद्यालयपहुंचे।जैसेहीवेवहांपहुंचेबच्चेअपनीकक्षाओंमेंनहींबैठेथे।स्कूलमेंपूरीअराजकताचलरहीथी।वहांपहुंचतेहीउन्होंनेकक्षाएकसेपांचतकमेंपढ़नेवालेबच्चोंसेपांचकापहाड़ापूछातोसभीजिरूत्तरथे।जबउन्होंनेकक्षातीनकेकईबच्चोंसेअपनानामलिखनेकोकहाकिवेअपनानामनहींलिखपाए।कईबच्चेबगैरड्रेसकेहीस्कूलपहुंचगए।स्कूलकीव्यवस्थापरउन्होंनेकड़ीआपत्तिजताईहै।उन्होंनेप्रधानाध्यापककोकड़ीफटकारलगाई।इतनाहीनहींउपखंडशिक्षाधिकारीकोविद्यालयकेप्रधानाध्यापकराजपालसिंहकावेतनरोकनेकेनिर्देशदिएहैं।उन्होंनेबतायाकिजबतकविद्यालयमेंअनुशासनऔरपठन-पाठनकीव्यवस्थाठीकनहींहोजातीतबतकउनकावेतनजारीनहींकियाजाएगा।वेजल्ददोबाराविद्यालयकानिरीक्षणकरेंगे।