प्रधानों की जांच नहीं हुई पूरी, नौ अधिकारियों को रोका वेतन

जागरणसंवाददाता,बांदा:कईग्रामसभाओंमेंहुएघोलमालकीशिकायतपरगठितकीगईजांचकीरिपोर्टनिर्धारितसमयपरनहींपहुंचपाई।इसकोलेकरजिलाप्रशासनसेचेतावनीभीदीगई।मगरअधिकारियोंनेइसजांचकोगंभीरतासेनहींलिया।इसपरजिलाधिकारीनेजांचपूरीनकरनेवालेनौजिलास्तरीयअधिकारियोंकाफरवरीमाहकावेतनरोकदियाहै।पुन:जांचपूरीकरनेकेआदेशदेतेहुएकहाकिजबतकरिपोर्टनहींदेंगेतबतकफरवरीमाहकेवेतनकाभुगताननहींकियाजाएगा।

जिलेकीकईग्रामपंचायतोंकेप्रधानोंकेविरुद्धग्रामीणोंनेशपथपत्रपरशिकायतकरतेहुएजांचकीमांगकीथी।जिसमेंनौजिलास्तरीयअधिकारियोंकोजांचअधिकारीबनायागयाथा।इनमेंअधिशासीअभियंतालघुडालसिचाईप्रखंड,अधिशासीअभियंताग्रामीणअभियंत्रणविभाग,अधिशासीअभियंतानलकूपखंड,अधिशासीअभियंताप्रांतीयखंडलोनिवि.अधिशासीअभियंतानिर्माणखंड-1लोनिवि.,अधिशासीअभियंतानिर्माणखंड-2,लोनिवि.,अधिशासीअभियंताजलनिगम16वींशाखा,उपकृषिनिदेशकप्रसारवजिलाकृषिअधिकारीजांचअधिकारीनामितकिएगएथे।जिलाधिकारीआनंदकुमारसिंहनेजारीआदेशमेंकहाकिपूर्वमेंकईस्मरणपत्रभेजेगएफिरभीअभीतकजांचरिपोर्टनहींमिली।लंबेसमयबादजांचरिपोर्टउपलब्धनकरानाशासकीयआदेशोंकीअवहेलनाकीश्रेणीमेंआताहै।ग्रामप्रधानोंकाचुनावनजदीकहै।जांचआख्याकेगुण-दोषकेआधारपरउत्तरप्रदेशपंचायतराजअधिनियम-1947कीधाराकेअंतर्गतकार्रवाईकरतेहुएग्रामप्रधानोंकोनो-डयूजनिर्गतकियाजानाहै।पिछलेमहीनेजांचरिपोर्टप्रस्तुतकरनेकेलिएएकसप्ताहकासमयदियागयाथा।फिरभीजांचरिपोर्टउपलब्धनहींकराईगई।लिहाजाजांचरिपोर्टप्राप्तनहोनेपरफरवरीमाहकेवेतनभुगतानपररोकलगाईजातीहै।