पर्यटन के क्षेत्र में जिले को और सशक्त बनाने की दरकार

कैमूर।जिलेकोहराभरावस्वच्छबनानेकेलिएनितनएप्रयासकिएजारहेंहैं।जिससेकैमूरजिलावर्तमानसमयमेंस्वच्छताकेमायनेमेंकाफीआगेनिकलचुकाहै।गांवगांवमेंस्वच्छताकीबयारबहरहीहै।हरेपेड़पौधोंकोलगानेकेलिएजागरूकताअभियानचलरहाहै।लेकिनजिलेकेलोगोंकोइसबातकामलालहैकिसरकारजिलेमेंस्थितऐतिहासिकस्थलोंकेविकासकीतरफभरपूरध्याननहींदेरहीहै।सरकारकाध्यानयदिजिलेमेंकिसीस्थलपरहैतोवोहैमांमुंडेश्वरीधाम।लेकिनधामकेविकासमेंअभीकईकमीहैजिसकेपूरीहोनेकीउम्मीदमेंजिलेकेलोगहैं।इसधाममेंरोपवेनिर्माणकासपनाअबतकपूरानहींहुआ।पिछलेकुछवर्षोंसेइसकेनिर्माणकीकवायदचलरहीहै।लेकिनअभीपर्यटनविभागववनविभागमेंजमीनकोलेकरपेंचफंसाहुआहै।यहांबीतेवर्षपटनासेआएअधिकारियोंनेधाममेंनिकलनेवप्रवेशकरनेकेलिएअलग-अलगदिशासेसीढ़ीबनानेकीबातकहीथी।लेकिनइसयोजनाकेसंबंधमेंआगेक्याकार्रवाईहुईइसकाकुछपतानहींचला।जबकिहरसालदोनोंनवरात्रमेंयहांहोनेवालीभीड़कोअलग-अलगदिशामेंसीढ़ीबनजानेसेकाफीराहतमिलेगी।इसकेअलावाजिलेमेंकईऐसेस्थलहैंजिनकेविकाससेजिलेमेंएकतरफजहांराजस्वकोबढ़ावामिलेगावहींजिलेमेंरोजगारकेभीसाधनबढ़ेंगे।जिलेकेचैनपुरप्रखंडकेजगहवांडैमवबख्तियारखांरौजा,करकटगढ़,अधौराप्रखंडकेतेल्हाड़कुंडआदिकईऐसेस्थलहैंजोआजभीअपनेविकासकीबांटजोहरहेहैं।इनऐतिहासिकस्थलोंकेविकाससेजिलेकेविभिन्नप्रखंडोंमेंरोजगारकेसाधनउपलब्धहोसकतेहैं।लेकिनसरकारकीउदासीनतासेजहांयेऐतिहासिकस्थलजीर्णशीर्णअवस्थामेंपड़ेहुएहैंवहींलोगरोजगारकेलिएभटकरहेंहैं।राज्यसरकारद्वारापेशकिएजानेवालेबजटमेंजिलेकेलोगोंकोयहउम्मीदहैकिसरकारकैमूरजिलेमेंस्थितपर्यटनवऐतिहासिकस्थलोंकेविकासकेलिएकुछनयाजरूरकरेगी।