साइकिल से झारखंड सीमा पर पहुंचे जत्थे को जांच के बाद किया रवाना

लॉकडाउनमेंछत्तीसगढ़,कोलकाता,झारखंडवउड़ीसामेंफंसेप्रवासीमजदूरसाइकिलसेचलकररविवारकोरजौलीपहुंचे।सभीकोनाश्ता-पानीकराबससेविदाकियागया।अंतरराज्यीयसीमापररजौलीकेचितरकोलीचेकपोस्टपहुंचनेपरसभीलोगोंकीपहलेस्वास्थ्यजांचकीगई।चितरकोलीमेंबनेमेडिकलकैंपमेंलगभगदोदर्जनसाइकिलसवारोंकीथर्मलस्क्रीनिगकीगई।जांचकेउपरांतलोगोंकेजत्थेकोएसडीओचंद्रशेखरआजाद,एलआरडीसीविमलप्रसादसिंहनेउनकेजिलोंमेंजानेकेलिएबसोंसेरवानाकिया।

एसडीओचंद्रशेखरआजादनेबतायाकिबिहारकेमधुबनी,दरभंगा,नालंदा,मुजफ्फरपुरऔरवैशालीजिलेकेरहनेवालेयहप्रवासीमजदूरलॉकडाउनमेंबिहारसेबाहरकेप्रदेशोंमेंफंसेहोनेकेकारणसाइकिलसेहीअपने-अपनेघरोंकोचलदिएथे।जिन्हेंअंतरराज्यीयसीमापररजौलीकेचितरकोलीचेकपोस्टपररोकागया।सभीलोगोंकीथर्मलस्कैनरसेजांचकीगई।जांचकेबादसभीलोगोंकोचाय-बिस्कुटखिलाकरजिलाप्रशासनकेनिर्देशदोबसोंसे42लोगोंकेजत्थेकोरवानाकियागयाहै।पहलीबससेछत्तीसगढ़वकोलकातामेंफंसे22लोगोंजिनमेंवैशालीके6,मुजफ्फरपुरके7,नालंदाके1,मधुबनीके6दरभंगाके2प्रवासीवदूसरीबससेउड़ीसाकेभुवनेश्वरतथाझारखंडकेधनबादवगिरिडीहसेआए20लोगोंजिनमेंगयाके3,सुपौलके3,अररियाके9मधेपुराके5लोगथे,सभीकोउनकेजिलोंकेलिएरवानाकियागया।कार्यपालकदंडाधिकारीअखिलेश्वरप्रसादद्वारासभीलोगोंकोचॉकलेटदियागया।साथहीलोगोंकोउनकेगंतव्योंतकपहुंचनेकेदौरानरास्तेकेलिएबसमेंपानीकाबोतल,ग्लूकोजआदिदियागया।