शहर के विकास में बजट का रोड़ा

गोंडा:आइएआपकोशहरकेविकासकीवस्तुस्थितिसेवाकिफकरातेहैं।राज्यवित्तआयोगसेमिलनेवालेबजटमें26लाखरुपयेकीकटौतीनेविकासकीराहमेंरोड़ाअटकादियाहै।

गोंडानगरपालिकापरिषदमेंकुल27वार्डहैं।करीबतीनलाखआबादीनिवासकररहीहै।पहलेनगरविकासविभागराज्यवित्तआयोगसेगोंडानगरपालिकाकोएककरोड़54लाख83हजार406रुपयेदेताथा।अप्रैलसेमईमाहकेबीचइसमें26लाखरुपयेकीएकमुश्तकटौतीकरदीगयी,जिससेअबपालिकाकेकर्मचारियोंकेवेतनवअन्यदेयकोंकेभुगतानकोलेकरमुश्किलेंउत्पन्नहोगयीं।ऐसेमेंपालिकानेअन्यमदोंकेधनकोकर्मियोंकेवेतनभुगतानपरखर्चकरदियालेकिन,विकासकीगाड़ीआगेनहींबढ़सकी।

स्मिताश्रीवास्तवकाकहनाहैकिशहरकेविकासकेलिएबजटकाविस्तारकरनाचाहिए।अखंडप्रताप¨सहकाकहनाहैकिबजटबढ़नेसेविकासकीयोजनाओंकोआगेबढ़ानेमेंमददमिलेगी।बारएसोसिएशनकेपूर्वअध्यक्षरविचंद्रत्रिपाठीबोलेकिविकासकेलिएठोसप्रयासहोनाचाहिए।अधिवक्तासुरेंद्रमिश्रकाकहनाहैकिसुविधाएंबढ़ानेकेलिएबजटकीकटौतीकोखत्मकरनाचाहिए।

पालिकाकेबजटमेंहुईकटौतीकेबाबतप्रमुखसचिववअन्यअफसरोंकोपत्रलिखागयाहै।उन्हेंवस्तुस्थितिसेअवगतकरायागयाहै।

-उजमाराशिद,अध्यक्षनगरपालिकापरिषद,गोंडा।