शिक्षक अपने दायित्वों का निर्वहन करने में सक्षम: सुनील

संसू,दरियापुर:शिक्षकअपनेदायित्वोंकानिर्वहनकरनेमेंसक्षमहैंऔरउन्हेइसबातकीसमझभीहैकिकिसप्रकारउन्हेंअध्यापनकार्यबेहतरढ़ंगसेकरनाहै।प्रखंडप्रमुखकोशिक्षकोंपरनजररखनेकीआवश्यकतानहींहै।वेप्रखंडकेविकासकार्योपरनजररखेंतोक्षेत्रकाविकासतेजीसेहोगा।उक्तबातेंपरिवर्तनकारीशिक्षकमहासंघकेअध्यक्षडॉसुनीलकुमाररायनेप्रेसविज्ञप्तिजारीकरकहीहै।उन्होंनेबतायाकिप्रमुखद्वाराबार-बारशिक्षकोंपरमनमानीकासवालउठाकरउन्हेंप्रताड़ितकियाजाताहै।इससेशिक्षकोंकोअपनेकार्योकेनिर्वहनमेंकठिनाईहोतीहै।उन्होंनेकहाकिप्रमुखद्वाराशिक्षासमितिकागठनबगैरबीडीसीकीबैठकमेंअनुमोदनकराएहीकियागयाहै।यहनियमसम्मतनहींहै।उन्होंनेकहाकिनियमावलीकेअनुसारदोमाहपरबीडीसीकीबैठकहोनीचाहिएजोडेढ़वर्षपरहुईहै।इसकेकारणप्रखंडकीतमामयोजनाएंलंबितपड़ीहैं।डॉसुनीलनेप्रमुखकोसंदर्भितकरतेहुएकहाकिपंचायतसमितिकेसभीसातस्थायीसदस्यकाचुनावआपकेद्वारानहींकरायागयाहै।इसकेकारणप्रखंडकासाराविकासकार्यपूर्णरूपेणबाधितहै।उन्होंनेशिक्षासमितिकागठननियमानुसारकरानेकीमांगप्रखंडविकासपदाधिकारीसहकार्यपालकपदाधिकारीसेकीहै।