शिक्षकों के रवैये के विरोध में ग्रामीणों ने स्कूल में की तालाबंदी, हंगामा

सिवान।प्रखंडकेराजकीयमध्यपतेजीबहादुरविद्यालयमेंसोमवारकीसुबहग्रामीणोंनेशिक्षकोंकेरवैयासेनाराजहोकरविद्यालयमेंतालाबंदीकरदी।इसकेबादग्रामीणोंनेशिक्षकोंएवंपदाधिकारियोंकेखिलाफजमकरनारेबाजीकी।कमरोंमेंतालाबंदीहोनेकेबादसभीबच्चेबाहरबैठकरपठन-पाठनकिया।ग्रामीणोंनेआरोपलगातेहुएबतायाकिविद्यालयमेंशिक्षकएकतोसमयपरनहींआतेहैंआतेभीहैंतोबच्चोंकोपढ़ातेनहींहैं।कार्यालयमेंबैठकरगपकरतेहैं।बच्चेअपनेअपनेवर्गमेंबैठकरपठन-पाठनकरनेकेलिएशिक्षकोंकाइंतजारकरतेहैं,लेकिनशिक्षकवर्गमेंनहींजातेहैंऔरसमयसेपहलेहीविद्यालयछोड़करचलेजातेहैं।यहसिलसिलाविद्यालयमेंलगातारतीनसालोंसेचलरहाहै।यहांतककिशिक्षकआपसमेंरोजानामारपीटगालीगलौजभीकरतेहैं।मेनूकेअनुसारविद्यालयमेंमध्याह्नभोजनभीनहींबनायाजाताहै।।इसकीशिकायतहमलोगोंनेपदाधिकारीएवंपंचायतसमितिकेसदस्योंसेकईबारकी,लेकिनआजतककोईकार्रवाईनहींहुई।इनसभीसमस्याओंकोलेकरपूरेगांवकेग्रामीणपरेशानहैं। बच्चोंकाभविष्यअंधेरेमेंजारहाहै।ग्रामीणोंनेबतायाकिइसविद्यालयकातालाउससमयतकनहींखुलेगाजबतक इसविद्यालयके शिक्षकोंकातबादलानहींहोजाता क्योंकिइसविद्यालयमेंकईसालोंसेशिक्षकअपनीमनमानीकरआरहेहैं।यहांकेप्रधानाध्यापककीबातकोईनहींमानताहै।इनसभीसमस्याओंकोलेकरहमलोगोंनेतालाबंदीकियाहैऔरयहतालाबंदीइसीतरहरहेगा।ग्रामीणलकी¨सह,अकाश¨सह,शशिकुमार,अभिमन्युकुमार,सोनूकुमार,सुशीलकुमार,दुर्गेशकुमार,जितेंद्रशर्मा,विकासगुप्ता,हिमांशु¨सह,नितेश¨सह,शनि¨सह,छोटू¨सह,भोला¨सहसहितदर्जनोंग्रामीणउपस्थितथे। इससंबंधमेंप्रधानाध्यापकमुन्नाकुमारगुप्तानेबतायाकिग्रामीणोंद्वाराजितनेभीआरोपलगाएजारहेहैंसभीसत्यहैं।कुछशिक्षकहैंजोसमयपरनहींआतेहैंइनसभीशिकायतोंकोलेकरमैंनेपंचायत

समितिकोलिखितआवेदनदियाथा।समितिद्वाराआश्वासनमिलाथाकिजोशिक्षकऐसेकररहेहैंउनलोगोंपरकार्रवाईकीजाएगी।

क्याकहतेहैंपदाधिकारी:

इसकीजानकारीगांवकेग्रामीणोंद्वारामिलीहै।ऐसेकामकरनेवालेशिक्षकोंपरउचितकार्रवाईकरनेकेलिएवरीयअधिकारीकोपत्रलिखाजाएगा।

ग्यासुद्दीनअंसारी,बीईओ

शिक्षकोंनेग्रामीणोंनेपरकराईथीप्राथमिकीदर्ज:

विद्यालयमेंतालाबंदीकरनेकेबादग्रामीणोंनेबतायाकिहमारेगांवकेसैकड़ोंबुजुर्गलोगोंनेइनसमस्याओंकोलेकरएकसालपहलेविद्यालयमेंतालाबंदीकीथीऔरहंगामाभीकियाथा,लेकिनइसविद्यालयकेसभीशिक्षकोंनेमिलजुलकरग्रामीणोंपरगलतआरोपलगातेहुएप्राथमिकीदर्जकरादीथी।उससमयभीपदाधिकारियोंनेग्रामीणोंकोमददकरनेकेबजायशिक्षकोंकामददकियाथा,इसदौरानगांवके17ग्रामीणोंकोनामजदबनायागयाथा।इसडरसेइसगांवकेग्रामीणइसविद्यालयकेशिक्षकोंकेखिलाफकोईआवाजनहींउठातेहैं।

बच्चोंनेशिक्षकोंपरलगाएकईआरोप:

राजकीयमध्यविद्यालयपतेजीबहादुरमेंपढ़नेवालेरिशुकुमार,मनुकुमार,विपुलकुमार,सुमनकुमार,तेजप्रताप,गौतमकुमार,श्यामठाकुर,विमलेशकुमार,शिवमकुमार,आदित्यदुबे,विशालकुमार,राजाकुमार,अनुजकुमार,आयुषकुमार,पीयूषकुमार,¨प्रसकुमार,आशिकाकुमारीसहितसैकड़ोंछात्रछात्राओंनेबतायाकिइनसभीशिक्षकोंकेरवैयासेहमलोगकाफीदुखीहैंएवंहमलोगोंकाभविष्यखराबहोरहाहै।इसविद्यालयपरजांचकरनेकेलिएकोईअधिकारीभीनहींआताहै।हमलोगोंकेभविष्यकेसाथसभीशिक्षकखिलवाड़कररहेहैंऔरशिक्षकोंद्वाराहमलोगोंकोधमकायाजाताहैकिविद्यालयकाशिकायतकिसीसेनहींकरनाहैनहींतोविद्यालयसेनामकाटकरभगादियाजाएगा।