शिक्षकों की कमी का दंश झेल रहा रामानंद परसी उच्च विद्यालय, फिर भी निकल रहे टॉपर

संवादसूत्र,असरगंज(मुंगेर):1932मेंस्थापितरामानंदपरसीउच्चविद्यालयप्रखंडक्षेत्रकेनामचीनविद्यालयमेंसेएकहै।यहांसेशिक्षाग्रहणकरछात्रअपनीप्रतिभाकापरचमपूरेदेशमेंलहरारहेहैं।इसस्कूलकेछात्रप्रत्येकवर्षबिहारविद्यालयपरीक्षासमितिद्वाराआयोजितमैट्रिककीपरीक्षामेंटॉपटेनमेंअपनीजगहबनातेहैं।वर्तमानसमयमेंरामानंदपारसीउच्चविद्यालयशिक्षकोंकीकमीकादंशझेलनेकोविवशहै।शिक्षकोंकीकमीकेकारणस्कूलकीशैक्षणिकव्यवस्थापरप्रतिकूलअसरपररहाहै।स्कूलमेंलगभगएकहजारछात्रनामांकितहैं,जबकिमात्र15शिक्षकहीकार्यरतहैं।विद्यालयमेंशिक्षकोंके40पदसृजितहैं।इसविद्यालयमेंइंटरतककीपढ़ाईहोतीहै।

विद्यालयकेकंप्यूटरफांकरहेधूल

स्कूलमेंछात्रोंकोकंप्यूटरशिक्षादेनेकेलिए11कंप्यूटरलगेहुएहैं,लेकिनसभीकंप्यूटरखराबहैं।जिसकेकारणशिक्षकरहनेकेबावजूदभीकंप्यूटरकीपढ़ाईनहींहोरहीहै।सारेकंप्यूटरकमरेमेंधूलफांकरहेहैं।यहांछात्राओंकेलिएकॉमनरूमनहींहै।जिससेछात्राओंकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताहै।विद्यालयमेंलगाएंगएव्यायामकेउपकरणमेंभीजंकलगरहाहै।

क्याकहतेहैंछात्र,छात्राएं

छात्रविकासकुमार,संतोषकुमार,शारदाकुमारी,पायलकुमारी,रेशमीकुमारीआदिछात्रछात्राओंनेकहाकिविद्यालयमेंपानी,बिजली,शौचालयकीव्यवस्थाहै।छात्राओंकेलिएकॉमनरूमनहींहै।जिससेहमलोगोंकोपरेशानीकासामनाकरनापड़ताहै।बरसातकेमौसममेंछतसेपानीरिसताहै।जिसकारणअध्ययनकरनेमेंकाफीपरेशानीहोतीहै।स्कूलमेंअर्थशास्त्र,इतिहास,राजनीतिकशास्त्र,संगीतआदिकेशिक्षकहैं,लेकिनविज्ञानकेशिक्षकनहींहै।जिससेविज्ञानकीपढाईकरनेकेलिएकोचिगसेंटरमेंजाकरअध्ययनकरनापड़ताहै।

बोलेप्राचार्य

-प्राचार्यअनिताकुमारीनेकहाकिविद्यालयमेंशिक्षकोंकीकमीहै।इसकेबावजूदछात्रोंकोबेहतरशैक्षणिकमाहौलउपलब्धकरानेकीदिशामेंप्रयासकिएजातेहैं।प्रत्येकसालमैट्रिकवइंटरकेपरीक्षापरिणाममेंविद्यालयकेछात्रटॉपरकीसूचीमेंअपनीजगहबनातेहैं।शिक्षकोंकीकमीकोलेकरडीईओकोपत्रलिखागयाहै।साथहीअन्यसमस्याओंसेभीअवगतकरायागयाहै।अभीतकशिक्षकनहींमिलेहैं।मुश्किलोंकाअंदाजालगायाजासकताहै।