शराब की लत और कलह ने ले ली मजदूर की जान

संवादसूत्र,हाथरस:सासनीकेगांवरुदायनमेंनीमकेपेड़परफंदालगाकरकरीब50वर्षीयमजदूरनेजानदेदी।परिजनोंनेबतायाकिशराबकीलतकेचलतेपरिवारमेंगरीबीऔरकलहथी।इसीवजहसेउसनेआत्महत्याकरली।

गांवरुदायननिवासीकरीब50वर्षीयमहेन्द्रपुत्रलक्ष्मणमजदूरीकरकेपरिवारपालरहाथा।ग्रामीणोंकेमुताबिकवहनियमितशराबपीताथा।नशेमेंघरपहुंचनेपरपरिवारवालोंसेउसकीझड़पहोतीथी।पूरापरिवारमजदूरीपरहीनिर्भरहै,जिससेआर्थिकतंगीबनीरहतीथी।शराबकीलत,आर्थिकतंगीऔरघरकीकलहकेचलतेहीमहेन्द्रनेशनिवाररातएकखेतकेकिनारेनीमकेपेड़सेलकटकरजानदेदी।रविवारकीसुबहग्रामीणजंगलकीओरशौचकोगएतबशवलटकादेखगांवमेंखबरदी।

मौकेपरग्रामीणोंकातांतालगगया।सूचनापाकरउसकेपरिजनएवंपुलिसभीपहुंचगई।पुलिसनेशवउतरवाकरपोस्टमार्टमकेलिएभेजा।मृतककेभाईयुवराजनेघटनाकीतहरीरथानेमेंदेतेहुएआत्महत्याकीबातलिखकरदीहै।महेन्द्रनेअपनेपीछेपांचपुत्रियांवएकपुत्रकोरोतेबिलखतेछोड़ाहै।प्रभारीनिरीक्षकअश्वनीकौशिककाकहनाहैमामलाआत्महत्याकालगरहाहै।पोस्टमार्टमरिपोर्टआनेकेबादस्थितिस्पष्टहोगी।