शुगर जांच के नाम पर वसूली, अफसर बने अंजान

बदायूं:सरकारजिलाअस्पतालमेंसभीतरहकीजांचेंऔरइलाजमुफ्तकरनेकादावाठोंकतीरहीऔरमातहतोंनेसमानांतरपैथोलॉजीहीखोलडाली।नयाखेलशुगरकीजांचकेनामपरउजागरहुआहै।जोजांचअस्पतालकीपैथोलॉजीमेंनिश्शुल्कहैवहजनऔषधिकेंद्रमेंकरमरीजसे30से50रुपयेतकवसूलकिएजारहेहैं।प्रचारकेलिएजगह-जगहपंफलेटचिपकेहैं।इसकेबावजूदअफसरअंजानबनेहैं।

अस्पतालकीपर्चीपरहीरिपोर्ट

यहसाराखेलजनऔषधिकेंद्रसेचलरहाहै।अस्पतालकेकुछकर्मचारीभीकमीशनखोरीकेलालचमेंजुड़ेहैं।डॉक्टरकीगैरमौजूदगीमेंयहकर्मचारीमरीजोंकोशुगरजांचजल्दीहोनेकाहवालादेकरकेंद्रपरभेजतेहैं।मरीजकीजांचकेबादजिलाअस्पतालकीसरकारीपर्चीपरहीलिखकरदीजातीहै।ताकिरिपोर्टदेखनेपरपरामर्शदाताडॉक्टरयाबाहरकिसीकोशंकानहो।इसकेएवजमेंमरीजसे50रुपयेतकलिएजातेहैं।कभीकिसीमरीजनेआपत्तिकरबहसकीतो30रुपयेतकमेंसौदाकरलेतेहैं।

पंफलेटकररहाप्रचार

मरीजोंमेंप्रचारकरनेकेलिएओपीडी,इमरजेंसीसेलेकरवार्डोतकमेंपंफलेटचिपकाएहैं।इनपर्चोपरस्पष्टलिखाहैकि'शुगरकीजांचजनऔषधिकेंद्रमेंकीजातीहै।'कईबारअपरनिदेशकऔरसंयुक्तनिदेशकतकनेमुआयनाकिया,लेकिनइसखेलपरनजरकिसीकीनहींपड़ी।

पहलेभीविवादोंमेंरहाकेंद्र

अस्पतालकेभीतरचलरहाजनऔषधिकेंद्रशुरुआतसेहीविवादोंमेंरहाहै।पहलेकेवलदिनमेंखुलताथा।मरीजोंकीशिकायतपरअफसरसख्तहुएतब24घंटेकीसेवाशुरूहुई।अबयहनयाखेलशुरूहुआहै।

अस्पतालमेंकोईभीजांचभीतरहीपैथोलॉजीमेंपूरीतरहनिश्शुल्कहोतीहै।जनऔषधिकेंद्रमेंकेवलजेनेरिकदवाबिक्रीकीअनुमतिहै।रुपयेलेकरवहांजांचकरनेकेमामलेकीपड़तालकरकार्रवाईकरूंगा।

डॉ.मंजीत¨सह,प्रभारीसीएमओ