सीबीआइ के निशाने पर आए आठ संस्थान, अब बनेगी तीसरी चार्जशीट

राज्यब्यूरो,शिमला:छात्रवृत्तिघोटालेकीसीबीआइजांचमेंएकऔरगड़बड़झालासामनेआयाहै।इलेक्ट्रॉनिक्सऔरसूचनाप्रौद्योगिकीकेराष्ट्रीयसंस्थान(नाइलेट)केनामसेचंबा,ऊना,नाहनऔरकांगड़ामेंफर्जीसंस्थानचलाएजानेकाआरोपहै।सीबीआइजांचमेंइनसंस्थानोंद्वाराकरोड़ोंकीछात्रवृत्तियांहड़पनेकेआरोपसहीपाएगएहैं।अबयेआठसंस्थानसीबीआइकेनिशानेपरआगएहैं।इनकेखिलाफअबतीसरीचार्जशीटतैयारहोगी।

आरोपकेअनुसारछात्रवृत्तिघोटालेकेमुख्यआरोपितअरविदराजटाकीपत्नीभीइनमेंआरोपितबनसकतीहै।हालांकिअभीइससंबंधमेंकुछऔरपुख्तासुबूतएकत्रकिएजारहेहैं।कईजगहोंसेदस्तावेजएकत्रकरआरोपोंकाप्रारंभिकपुलिदातैयारकियाहै।अबइसेअंतिमरूपप्रदानकियाजाएगा।सूत्रोंकेअनुसारइनकीअसलीसंस्थाननाइलेटसेकिसीभीप्रकारकीएफिलिएशन(संबंद्धता)नहींहैं,जबकिनामनाइलेटकाहीइस्तेमालहोरहाहै।इनमेंअरविदकीपत्नीभीपार्टनरहैं।दोअन्यपार्टनरकेकेकृष्णनकुमार,हरियाणाकेसिरसा,राजदीपसिंहचंडीगढ़केनयागांवनजदीकमोहालीकेहैं।इसकेअलावाऊना,चंबा,नाहनऔरकांगड़ामेंचारजगहोंपरस्किलडपेलपमेंटस्कूल,सोसायटी(एसडीएस)भीचलाएगएहैं।एसडीएसकीनाइलेटसेसंबंद्धताबताईजारहीहै,लेकिनचारसंस्थानोंकीवेरीफिकेशनकीगईहै।यहवेरीफिकेशनशिमलाऔरदिल्लीसेभीकीगईहै।नाइलेटपंजाबकीअ‌र्द्धसरकारीएजेंसीहैं।यहप्रदेशमेंविभागों,निगमों,बोर्डोंकोआउटसोर्सपरस्टाफमुहैयाकरवातीहै,लेकिनराजटाकीपत्नीऔरउसकेपार्टनरपरआरोपहैंकिउन्होंनेचारस्थानोंमेंजालीतरीकेसेसंस्थानखोलेहैं।पंचकुलामेंबैंकखाता

एएसएमार्केटिंगसोल्यूशनकेनामसेइलाहाबादबैंकपंचकुला,सोलनमेंबैंकखाताखुलवाया।इसमेंपतानाहनकालिखवायाहै।2013केबादइनसंस्थानोंकेइसखातेमेंकरोड़ोंरुपयेजमाहुएहैं।सीबीआइजांचकहतीहैकिपार्टनरशिपडीडमेंअरविदनेखुदअपनीपत्नीकेजालीहस्ताक्षरकररखेहैं।इनहस्ताक्षरोंकीजांचहोरहीहै।इनमेंकंप्यूटरसेसबंधितछहमहीने,एकसाल,दोसालकाडिप्लोमाएवंडिग्रीकोर्सकरवाएजातेथे,लेकिनजांचमेंछात्रोंनेबतायाहैकिउनकेकागजातएकबारलेलिएजातेथे,उसकेबादउन्हेंआगेकाकोईपतानहींहोताथा।क्याहैघोटाला

2013-14से2016-17तक924निजीसंस्थानोंकेविद्यार्थियोंको210.05करोड़रुपयेऔर18682सरकारीसंस्थानोंकेविद्यार्थियोंकोमात्र56.35करोड़रुपयेछात्रवृत्तिकेदिएगए।आरोपहैकिकईसंस्थानोंनेफर्जीदस्तावेजोंकेआधारछात्रवृत्तिकीमोटीरकमहड़पली।जनजातीयक्षेत्रोंकेविद्यार्थियोंकोकईसालतकछात्रवृत्तिहीनहींमिलपाई।ऐसेहीएकछात्रकीशिकायतपरइसफर्जीवाड़ेसेपर्दाउठा।शिक्षाविभागकीजांचरिपोर्टकेमुताबिकवर्ष2013-14सेवर्ष2016-17तकप्रीऔरपोस्टमैट्रिकस्कॉलरशिपकेतौरपरविद्यार्थियोंको266.32करोड़रुपयेदिएगए।इनमेंगड़बड़ीपोस्टमैट्रिकस्कॉलरशिपमेंहुईहै।इसछात्रवृत्तिमेंकुल260करोड़31लाख31,715रुपयेदिएगएहैं।छात्रवृत्तिकीजोराशिप्रदेशकेविद्यार्थियोंकोमिलनीथी,उसेदेशभरकेअलग-अलगक्षेत्रोंमेंगलततरीकेसेबांटेजानेकाआरोपहै।