स्कूल पहुंचे बच्चे, कोरोना प्रोटोकाल का नहीं हुआ पालन

केसएक:पूर्वाह्न11.30बजे।प्राथमिकविद्यालयशास्त्रीनगरबालकप्रथम।स्कूलमें45मेंसे12बच्चेउपस्थितथे।कुछनेहीमास्कपहनाथा।यहींपरसंचालितकंपोजिटपूर्वमाध्यमिकविद्यालयशास्त्रीनगरमें40मेंसेमात्रनौबच्चेआए।

केसदो:पूर्वाह्न11.40बजे।पूर्वमाध्यमिकविद्यालयकन्यानारायणपुरवामें32बच्चोंमेंसे18उपस्थितथे।कक्षाओंकेभवनजर्जरहोनेसेबच्चेजमीनपरबैठकरभोजनकररहेथे।इंचार्जप्रधानाध्यापकनीलकमलनेबतायाकिबारिशकेसमयकक्षाओंमेंपानीटपकताहै।

केसतीन:सुबह10बजे।प्राथमिकविद्यालयपरमट।स्कूलमेंकुलसातबच्चेपहुंचेथे।पहलादिनहोनेकेचलतेप्रधानाध्यापकनवीनत्रिपाठीनेसभीबच्चोंकेमाथेपरतिलकलगाकरउनकास्वागतकिया।इसकेबादउन्हेंपढ़ानाशुरूकिया।

केसचार:सर्वोदयनगरस्थितदिल्लीपब्लिकस्कूलमेंकक्षाएकमें10सेअधिकबच्चेमास्कपहनकरपढ़ाईकरतेमिले।स्कूलकीहेडमिस्ट्रेसप्रतिभाशुक्लानेबतायाकिअभिभावकोंकीसहमतिकेबादहीबच्चोंकोस्कूलबुलायागया।

जागरणसंवाददाता,कानपुर:कोरोनाकमहोनेपरकक्षाएकसेलेकरपांचवींतककेस्कूलोंमेंबुधवारसेपढ़ाईतोशुरूहोगई,परकोविडप्रोटोकालकापालननहींहोसका।स्कूलोंमेंतमामबच्चेबिनामास्कलगाएपहुंचे,वहींउनकेलिएनतोसैनिटाइजरकाप्रबंधकियागयाऔरनहाथधोनेकेलिएसाबुनकीव्यवस्थारही।थर्मलस्क्रीनिंगमशीनभीनहींरही।

उच्चप्राथमिकविद्यालयसजारीमेंकक्षाएकसेपांचवींतकलगभग300बच्चेपहुंचे।कक्षाओंमेंइन्हेंबैठानेकीव्यवस्थाहुईभीतोशारीरिकदूरीकापालननहींहोसका।कईबच्चोंनेमास्कभीनहींपहनाथा।ओंकारेश्वरसरस्वतीविद्यानिकेतनकेप्रधानाचार्यराममिलनसिंहनेबतायाकि40फीसदबच्चोंनेउपस्थितरहकरपढ़ाईकी।बीएनएसडीशिक्षानिकेतनमेंप्रधानाचार्यबृजमोहनसिंहनेबतायाकिपहलेदिन25फीसदछात्रआए।बीएसएडा.पवनतिवारीनेदावाकियाकि40फीसदबच्चेस्कूलपहुंचे।इसीतरहसीबीएसईवआइसीएसईस्कूलोंमें35से40फीसदछात्रउपस्थितरहे।